उधम सिंह नगर जिले के सितारगंज में एक युवक की जीभ खाना खाते वक्त कट गई। परिजन उसे अस्पताल ले गए जहां डॉक्टर ने उसकी जीभ पर टांके लगा दिए। इसके बाद युवक की हालत बिगड़ने लगी और परिजन उसे दूसरे अस्पताल ले गए। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मिली जानकारी के मुताबिक सितारगंज के गणेश मंदिर निवासी नवल कुशवाहा के बेटे नितिन की जीभ 23 नवंबर को खाने खाते वक्त कट गई। जिसके बाद परिजन उसे लेकर किच्छा रोड स्थित निजी अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टर ने जीभ में टांके लगाने की बात कही। परिजनों का कहना है कि उनके मना करने के बाद भी डॉक्टर ने युवक के जीभ के हिस्से को सुन्न कर टांके लगा दिए।

दवा का असर खत्म होते ही युवक को फिर से दर्द होने लगा। इसके साथ ही उसकी जीभ से खून भी बहने लगा। परिजन फिर से युवक को लेकर अस्पताल पहुंचे। लेकिन उन्हें अस्पताल में डॉक्टर नहीं मिले। डॉक्टर से संपर्क किया तो संपर्क नहीं हो पाया। आनन-फानन में परिजन युवक को बरेली के एक निजी अस्पताल गए। जहाँ अत्यधिक खून बहने के कारण इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here