हाथरस मामले में पुलिस ने दर्ज की FIR, ‘भोले बाबा’ का नाम नहीं, जानें पूरा मामला

हाथरस। उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान भगदड़ मचने से मौत का आंकड़ा 121 पर पहुंच गया है। जबकि 35 लोग घायल हुए हैं। इनमें कुछ की हालत गंभीर है। अब भी 20 लोग लापता हैं, जिनकी तलाश की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज हालात का जायजा लेने के लिये हाथरस पहुंचेंगे। देर रात दो वरिष्ठ मंत्रियों और मुख्य सचिव मनोज सिंह के साथ डीजीपी प्रशांत कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और हालात के बारे में जानकारी ली।

पुलिस ने दर्ज की एफआईआर…

सत्संग कार्यक्रम के मुख्य सेवादार देवप्रकाश मधुकर और अन्य आयोजकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। भारतीय न्याय संहिता (बीएनएस), 2023 की धारा 105, 110, 126(2), 223 और 238 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

एफआईआर में बाबा का नाम क्यों नहीं…

आयोजन करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई। बाबा को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। हालांकि, FIR में बाबा का नाम नहीं हैं लेकिन क्या इससे बाकी जवाबदेहों को क्लीनचिट दी जा सकती है, कहीं पर हजारों-लाखों लोग जुटने वाले हों तो संख्या का अंदाजा लगाने से लेकर जगह, हालात की जानकारी प्रशासन के पास होती हैं। लेकिन जब हादसा हुआ तो घायलों को ऑटो, टैंपो, टैक्सी, बाइक तक से लाना पड़ा। स्ट्रेचर तक अस्पताल में सबको नहीं मिल पाए। इंतजाम नाकाफी थे। अधिकारियों को अंदाजा ही नहीं था।

लोग मरते गए बाबा के कारिंदे गाड़ियों से भागते रहे…

भगदड़ के दौरान लोग मरते रहे और बाबा के कारिंदे गाड़ियों से भागते रहे। किसी ने भी रुककर हालात को जानने की कोशिश नहीं की। बताया जा रहा है कि यहां से बाबा का काफिला एटा की तरफ रवाना हु्आ था। बाबा के काफिले में 10 लग्जरी गाड़ियां थीं। उनका सुरक्षा दस्ता भी तीन गाड़ियों में था। घटना के बाद जब आयोजकों ने उन्हें फोन करने की कोशिश की तो किसी का भी फोन रिसीव नहीं हुआ। बाद में तो खुद बाबा का मोबाइल भी स्विच ऑफ हो गया था। जब बाबा का फोन स्विच ऑफ हुआ तो जो स्थानीय लोग आयोजन से जुड़े हुए थे वह भी मौका देखकर भाग निकले।

बाबा के मैनेजर की भी तलाश…

यूपी पुलिस बाबा के पैतृक गांव की प्रॉपर्टी पर बने ट्रस्ट के मैनेजर SK सिंह की भी तलाश कर रही है। जानकारी के मुताबिक, बाबा के मैनेजर SK सिंह ने अपना मोबाइल फोन बंद कर लिया है पुलिस लगातार सम्पर्क करने की कोशिश में जुटी हुई है।

हाथरस में भारी पुलिस बल तैनात…

पीएसी के तीन कमांडेंट हाथरस घटना स्थल पहुंच गए हैं। आगरा,एटा,अलीगढ़ से पीएसी कंपनियां हाथरस पहुंचीं हैं। NDRF व SDRF की 2 कंपनियां भी मौके पर हैं। हाथरस में हुए मौतों की घटना की गंभीरता को देखते हुए भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है। हाथरस घटनास्थल पर फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड की टीम भी पहुंची है। फॉरेंसिक टीम घटनास्थल से तमाम एविडेंस कलेक्ट करेगी।

कोरोना के वक्त भी तोड़ा था कानून…

जानकारी के मुताबिक, मई 2022 में जब देश में कोरोना की लहर चल रही थी, उस समय फर्रुखाबाद में भोले बाबा ने सत्संग का आयोजन किया था। जिला प्रशासन ने सत्संग में केवल 50 लोगों के शामिल होने की इजाजत दी थी लेकिन, कानून की धज्जियां उड़ाते हुए 50 हजार से ज्यादा लोग सत्संग में शामिल हुए थेयहां उमड़ी भीड़ के चलते शहर की यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गई थी। उस समय भी जिला प्रशासन ने आयोजकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here