देवाल : तीन सालों से बिना आये मोटी पगार ले रहे पशु चिकित्सक!

सब गोलमाल है

  • वर्ष 2017 में तैनाती कुछ ही दिनों बाद से ही पशु चिकित्सक साहब हुए लापता
  • हर दूसरे तीसरे महीने गुपचुप आकर उपस्थिति रजिस्टर में चढ़ा जाते हैं अपनी हाजिरी  
  • डा. शिवा हुसैन ने मोबाइल पर की इस पशु चिकित्सक की शिकायतें मिलने की पुष्टि
  • देवाल के ब्लाक प्रमुख दर्शन दानू ने कहा, शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं कर रहे अफसर

थराली से हरेंद्र बिष्ट।
पिछले करीब तीन वर्षों से अपनी तैनाती स्थल पर गैरहाजिर एक पशु चिकित्सक महोदय बिला नागा मोटी पगार लेते आ रहे हैं और विभागीय उच्चाधिकारी इस मामले में खामोशी अख्तियार किए हुए हैं। जहां त्रिवेंद्र सरकार जीरो टॉलरेंस को लेकर बेहद सख्त रुख अपनाये हुए है, वहीं उसके ही आला अफसर इसमें पलीता लगाने में तुले हुए हैं।
इन दिनों देवाल विकासखंड के राजकीय पशु चिकित्सालय में तैनात एक पशु चिकित्सक खासे चर्चा में बने हुए हैं। इसका कारण उनके द्वारा देवाल में पशु-चिकित्सा के क्षेत्र में किया गया कोई उल्लेखनीय कार्य करना नहीं, बल्कि उनके लंबे समय से तैनाती स्थल से गायब रहने के बाद भी उनकी मोटी तनख्वाह को जारी किये जाने को लेकर है।
गौरतलब है कि वर्ष 2017 में राजकीय पशुचिकित्सालय देवाल में डा. सावन पंवार को बतौर पशु चिकित्सक तैनात किया गया था। ब्लॉक मुख्यालय पर तैनाती होने के बाद उन्हें प्रभारी चिकित्साधिकारी का भी अतिरिक्त चार्ज सौंपा गया था। बताया जा रहा हैं कि देवाल में तैनाती के बाद कुछ ही दिनों बाद चिकित्सक साहब  लापता हो गये। तबसे लेकर आज तक पशुचिकित्सालय देवाल में उनके दर्शन नहीं हुए।

विभागीय सूत्रों के अनुसार डॉक्टर साहब हर दूसरे अथवा तीसरे महीने गुपचुप आकर उपस्थिति रजिस्टर में अपनी हाजिरी दर्ज कर फुर्र हो जाते हैं। सूत्रों की मानें तो उन चिकित्सक महोदय के सर पर किसी बड़े मंत्री का हाथ है, जिसके चलते बड़े अधिकारी भी उन पर कार्रवाई से कतराते हैं। इस संबंध में देवाल के ब्लाक प्रमुख दर्शन दानू का कहना हैं कि उन्होंने भी पशु चिकित्सक के लंबे समय से मुख्यालय से नदारद होने की शिकायत विभाग के उच्चाधिकारियों से की है। इसके बाद भी ठोस कार्रवाई न होने पर वे इसकी शिकायत मुख्यमंत्री से करेंगे।
इस बाबत जब मुख्य जिला पशुधिकारी से संपर्क करने का प्रयास किया गया तो पता चला कि वह भी अवकाश पर हैं। ‌उनकी गैरमौजूदगी में उनका प्रभार देख रही डा. शिवा हुसैन ने मोबाइल पर बताया कि देवाल पशु चिकित्सक की शिकायतें मिलती रही हैं। जिस पर उनका वेतन रोकने सहित आवश्यक कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत कराया जाता रहा है। इस बार लापता चल रहे चिकित्सक को कितने महीनों से वेतन नहीं मिला है, इसकी वह जानकारी नहीं दे पायीं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here