कठुआ आतंकी हमले में उत्तराखंड के पांच जवान शहीद, पांच दिन के अंदर दूसरा अटैक

जम्मू। जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में भारतीय सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ है, जिसमें 22 गढ़वाल राइफल के 5 जवान शहीद और 5 गंभीर घायल हुए हैं, सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है।

दरअसल, सुरक्षाबल कुठआ के लोहाई मल्हार ब्लॉक के माछेड़ी इलाके के बडनोटा में दोपहर 3.30 बजे तलाशी ले रहे थे, तभी आतंकियों ने उन पर घात लगाकर ग्रेनेड से हमला किया। साथ ही फायरिंग भी की। इसके बाद सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया। आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ आज मंगलवार को दूसरे दिन भी जारी है। हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स नाम के आतंकी संगठन ने ली है। यह संगठन प्रतिबंधित पाकिस्तानी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की ही एक शाखा है।

इस आतंकी हमले में में शहीद हुए जवानों में नायब सूबेदार आनंद सिंह, कमल सिंह, नायक विनोद कुमार, राइफलमैन कमल सिंह, अनुज सिंह, राइफलमैन आदर्श सिंह हैं। वहीं अरविंद सिंह, सुजान राम, सागर सिंह, गगनदीप सिंह और कार्तिक गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

सेना के पैरा कमांडो (एसपीएल फोर्स) को कठुआ के दूरदराज के माचिन्डी-मल्हार क्षेत्र में हवाई मार्ग से उतारा गया है। उन्हें काउंटर ऑपरेशन में तैनात किया गया है। ताकि उन आतंकवादियों के खिलाफ समय पर प्रभावी काउंटर ऑपरेशन सुनिश्चित किया जा सके। जो आतंकवादी भाग रहे हैं और क्षेत्र से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। उनपर शिकंजा कसने की तैयारी है।

पिछले पांच दिनों में यह दूसरी बार है, जब सेना के काफिले पर घात लगाकर हमला किया है। इससे पहले जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में 4 मई को आतंकवादियों ने भारतीय वायु सेना (IAF) के काफिले पर घात लगाकर हमला किया था। इस हमले में IAF का 1 जवान शहीद हो गया था, जबकि 4 घायल हो गए थे। हमला शाम के समय तब हुआ था, जब वायुसेना का काफिला जिले के सुरनकोट इलाके में सनाई टॉप की ओर बढ़ रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here