सत्संग के दौरान मची भगदड़, 100 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका, अस्पताल में लगा शवों का ढेर

एटा। उत्तर प्रदेश ​के हाथरस जिले के सिकंदराराऊ कस्बे के फुलरई गांव में मंगलवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां भोले बाबा का सत्संग चल रहा था। बताया गया है कि सत्संग समाप्त होने के बाद यहां से जैसे भी भीड़ निकलना शुरू हुई तो भगदड़ मच गई। इस भगदड़ में 100 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका है। जिला अधिकारी ने अब तक 60 लोगों की मौत की पुष्टि कर दी है। हादसे में मरने वालों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। हादसे के बाद सीएससी सिकंदराराऊ पर डेड बॉडी आने का सिलसिला जारी है। कुछ घायलों को एटा के अस्पताल भी पहुंचाया गया है। मरने वालों और घायलों में अधिकतर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।

सीएम ने 24 घंटे में मांगी जांच रिपोर्ट

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाथरस में हुई घटना का संज्ञान लेते हुए अपर मुख्य सचिव गृह दीपक कुमार से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है, साथ ही पुलिस प्रशासन से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों को तत्काल मौके पर भेजकर राहत कार्य तेज करने और घायलों के इलाज आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने हादसे पर जताया दुख

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी हादसे पर दुख प्रकट किया है। उन्होंने एक्स अकाउंट पर लिखा, ‘उत्तर प्रदेश के हाथरस ज़िले में हुआ हादसा अत्यंत पीड़ादायक है। इस दुर्घटना में जिन्होंने अपनों को खोया है, उन शोकाकुल परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। इसके साथ ही मैं सभी घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन सभी पीड़ितों की हरसंभव मदद कर रही है’।

मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख की आर्थिक मदद

मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख तथा घायलों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता देने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं। कार्यक्रम आयोजकों के विरुद्ध एफआईआर होगी। शासन बड़ी कार्रवाई की तैयारी में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here