किसी व्‍यक्ति की मौत के बाद उसके आधार कार्ड का क्‍या होता है, जानिए करना होगा सरेंडर या बंद…

हैदराबाद। आज के समय में आधार कार्ड एक जरूरी डाड्यूमेंट हो गया है। इसके बिना आयकर रिटर्न दाखिल करना, सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करना, या यहां तक कि कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण करवाना भी काफी बिना मुश्किल है। आधार कार्ड के बिना आप सरकारी योजनाओं का लाभ तक नहीं उठा सकते हैं। आधार कई गतिविधियों के लिए आवश्यक और महत्वपूर्ण दस्तावेज है और केवाईसी के लिए तो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। आधार 12 अंको का यूनिक नंबर है, जिसमें आपका नाम, नंबर, पता और बायोमेट्रिक्स की जानकारियां शामिल होती हैं। सरकार बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र बनने से पहले ही उनका आधार नामांकन कराने की इजाजत देती है। लेकिन जब कोई मर जाता है तो उस व्यक्ति के आधार का क्या होता है।

कैंसिल नहीं हो सकता आधार…

किसी मरे व्यक्ति के आधार को रद्द करने का सवाल बार-बार उठता है। बहुत से मामले सामने आए हैं। ऐसी कई घटना सामने आई है जहां मृत्यु के बाद उसके आधार कार्ड का इस्तेमाल गलत ढंग से किया गया है। यूआईडीएआई द्वारा आधार कार्ड जारी होता है ऐसे में सबसे पहले आपको बता दे कि किसी भी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उसके आधार कार्ड को कैंसिल नहीं कराया जा सकता है। अगर किसी इंसान की मृत्यु हो जाती है तो अभी तक ऐसा कोई नियम नहीं बनाया गया है, जिससे उसका आधार को सरेंडर या बंद किया जा सके। इसका मतलब साफ है कि आपका आधार कार्ड चालू रहेगा।

लेकिन यूआईडीएआई ने आधार कार्ड को लॉक करने की सुविधा दी है। आपका आधार सुरक्षित रहे, साथ ही मृत व्यक्ति का आधार नंबर बाद में किसी और इंसान को नहीं दिया जाता है। अगर आपके घर में किसी की मृत्यु हो जाती है तो आप उसके आधार कार्ड को लॉक करवा दे, ताकि कोई उसका गलत यूज न करें।

ऐसे लॉक करें आधार कार्ड…

  • आधार कार्ड करने के लिए वेबसाइट- https://www.uidai.gov.in/ पर जाना होगा।
  • यहां My Aadhaar को सेलेक्ट करें और फिर Aadhaar Services पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद न्यू पेज ओपन होगा। वहां Lock/Unlock Biometrics पर क्लिक करना होगा।
  • यहां 12 अंकों का आधार नंबर साथ ही कैप्चा कोड भरना होगा।
  • उसके बाद Send OTP ऑप्शन चुनना होगा।
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा. इसके बाद बायोमेट्रिक डेटा को लॉक/अनलॉक करने का विकल्प आ जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here