‘पहाड़ी जिलों में कार्यरत पत्रकारों को तहसील स्तर पर दी जाए मान्यता’

  • पर्वतीय पत्रकार एसोसिएशन की थराली तहसील इकाई की बैठक में गौचर के पत्रकार खुशहाल सिंह असवाल की पत्नी के निधन पर जताया दुःख

थराली से हरेंद्र बिष्ट।
पहाड़ी जिलों में कार्यरत पत्रकारों ने तहसील स्तर पर मान्यता दिए जाने, कोरोना के दौरान पत्रकारों को पत्रकार कल्याण कोष से आर्थिक सहायता दिए जाने की सरकार से मांग की हैं।
यहां आयोजित पर्वतीय पत्रकार एसोसिएशन की थराली तहसील ईकाई की एक बैठक तहसील अध्यक्ष केशर सिंह नेगी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गौचर के पत्रकार खुशहाल सिंह असवाल की पत्नी के आकस्मिक निधन पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए, मुख्यमंत्री से आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की गई। इसके साथ ही पहाड़ी क्षेत्रों में विकट परिस्थितियों में कार्य करने वाले पत्रकारों को तहसील स्तर पर मान्यता दिए जाने की मांग उठाते हुए रोष व्यक्त किया कि लंबे समय से इस की मांग उठाई जाती रही हैं। किंतु सरकार के स्तर पर इस पर अपेक्षित ध्यान नही दिया जा रहा हैं। बैठक में कोरोना काल में लगभग बेरोजगार के कगार में पहुंच चुके पत्रकारों को पत्रकार कल्याण कोष से आर्थिक मदद देने की मांग की गई।इस बैठक में पीपीए एवं थराली प्रेस क्लब को मजबूत बनाने पर भी चर्चा की गई। इस बैठक में पीपीए के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष पिमोली, श्रमजीवी पत्रकार एसोसिएशन के तहसील अध्यक्ष मोहन गिरी, जयवीर भंडारी, हरेंद्र बिष्ट, राकेश सती, रमेश चन्द्र थपलियाल, गिरीश चंदोला, महावीर रावत आदि ने विचार व्यक्त किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here