हरिद्वार में बनेगा उत्ताखण्ड का पहला ‘मेडिकल डिवाइस पार्क’

  • केंद्र सरकार ने दी सहमति 100 एकड में बनेगा मेडिकल डिवाइस पार्क

हरिद्वार। केंद्र सरकार की सहमति से हरिद्वार में सौ एकड़ में उत्तराखण्ड का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क बनेगा। उत्तराखंड के साथ-साथ गुजरात को भी पार्क विकसित करने के लिए केंद्र सरकार ने सहमति प्रदान की है। यह पार्क स्वास्थ्य उपकरण निर्माण से जुड़ी बड़ी कंपनियों के आकर्षण का केंद्र बनेगी। इस पार्क के निर्माण के लिए केंद्र 90 प्रतिशत अनुदान देगा।
यह पार्क प्रदेश का पहला मेडिकल डिवाइस पार्क होगा, जो अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। पार्क निर्माण के उपरांत वहां पर उपकरण निर्माता बड़ी कंपनियों को भूखंड बांटे जाएंगे। प्रदेश सरकार निवेशक के लिए आने वाली कंपनियों को औद्योगिक इकाइयों में दी जाने वाले रियायतों के अलावा अन्य कुछ छूट देने की भी तैयारी कर रही है।
 केंद्र सरकार ने इससे पहले चार राज्यों में एक-एक पार्क स्थापित करने की अनुमति प्रदान की है, जिनमें  तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, केरल और तमिलनाडु सामिल हैं। केंद्र सरकार मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए राज्यों को मेडिकल डिवाइस पार्क बनाने की अनुमति प्रदान कर रही है।
पार्क में  दस हजार से बीस हजार वर्ग फीट के तैयार ‘रेडी टू यूज’ प्लाट मिलेंगे, जिनमें सर्जिकल और मेडिकल उपकरण बनाये जायेंगे। सरकार इन प्लाटों पर हर सुविधा विकसित करके देगी, जिनसे उपकरण निर्माण में सुविधा होगी। इसके अलावा शोध के लिए भी अलग से व्यवस्था की जाएगी। इन पार्कों में उपकरण निर्माण के लिए हाल ही में प्रदेश सरकार ने जापान गए प्रतिनिधिमंडल से वहां के मेडिकल उपकरण निर्माता कई कंपनियों से संपर्क साधा है। इन कंपनियों को उत्तराखंड में आकर्षित करने के लिए उच्च अधिकारियों की टीम ने पहले दौर की वार्ता भी की है।
इस पार्क में मेडिकल उपकरण बनाने वाली कंपनियाें के स्थापित होने से प्रदेश की आर्थिक स्थिति सुधरेगी और प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार की संभावनाएं बढ़ेंगी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here