देहरादून। उत्तराखंड में मौसम लगातार करवट बदल रहा है। बीते दिन मौसम ने अचानक करवट बदली, जिससे अल्मोड़ा और विकासनगर के किसानों को खासा नुकसान हुआ है। वही विकासखंड के काफलीखान एवं भिकियासैंण के विभिन्न इलाकों में ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान पहुंचा है। ओलावृष्टि से खेतों में लगे फलदार पेड़ों में लगे बौर नष्ट हो गए है। वहीं रबी की फसलें बर्बाद हो गई है। जिसके बाद काश्तकारों के चेहरे मुरझाए हुए हैं और वह इस नुकसान की भरपाई शासन प्रशासन से करने की उम्मीद लगा रहे है। मौसम विभाग ने 16 से 18 मार्च तक बारिश, बिजली चमकने, ओलावृष्टि की संभावना के मद्देनजर यलो अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग के निदेशक विक्रम सिंह ने बताया कि उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और देहरादून के पर्वतीय क्षेत्रों में वर्षा हो सकती है। शेष जनपदों के कुछ स्थानों पर बहुत हल्की से हल्की वर्षा हो सकती है। पर्वतीय जनपदों में गर्जन के साथ बिजली चमकने और ओलावृष्टि की भी संभावना है। जिसकों लेकर यलो अलर्ट जारी किया गया है।

बता दे कि अचानक बदले मौसम ने एक बार फिर जौनसार बावर चकराता क्षेत्र के किसानों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। भारी ओलावृष्टि से तापमान में कमी देखने को मिल रही है। वहीं खेतों में खड़ी मटर और अन्य फसलों को भारी ओलावृष्टि से काफी नुकसान हुआ है। ग्रामीण किसान ओलावृष्टि को देखकर काफी अचंभित हैं। किसानों का कहना है कि ऐसी ओलावृष्टि पहले कभी नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here