उत्तराखंड: अधीनस्थ सेवा चयन आयोग दोबारा शुरू करेगा समूह-ग की 23 भर्तियां

  • अधीनस्थ सेवा चयन आयोग दोबारा शुरू करेगा समूह ग की 23 भर्तियां
  • पेपर लीक के बाद सरकार ने राज्य लोक सेवा आयोग को दी थी जिम्मेदारी, चरणबद्ध वापस होंगी भर्तिया

देहरादून। पेपर लीक प्रकरण के दौरान हाथ से छीनी गई समूह ग की 23 भर्तियों को अब अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ही कराएगा। ये भर्तियां राज्य लोक सेवा आयोग से यूकेएसएसएससी को वापस करने की कवायद अंतिम चरण में है। व्यवस्था बहाल होने पर दोबारा समूह-ग भर्तियों में तेजी आएगी।

दरअसल, पिछले साल जुलाई में यूकेएसएसएससी की कई भर्तियों के पेपर लीक होने के बाद सरकार ने राज्य लोक सेवा आयोग को समूह-ग की 23 भर्तियों की जिम्मेदारी भी सौंप दी थी। इसके लिए सितंबर माह में राज्य सरकार ने उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (कृत्यों का परिसीमन)(संशोधन) विनियम 2022 जारी किया था।

इस हिसाब से पुलिस कांस्टेबल सहित तमाम भर्तियां राज्य लोक सेवा आयोग ने कराई। इस बीच यूकेएसएसएससी में नए अध्यक्ष जीएस मर्तोलिया की ताजपोशी हुई। उन्होंने रद्द हुई सभी भर्तियों की निर्विवाद परीक्षाएं कराईं। इसके बाद पुरानी भर्ती लौटाने के लिए शासन को पत्र भेजा। कार्मिक विभाग के एक आला अधिकारी ने बताया कि राज्य लोक सेवा आयोग से यूकेएसएसएससी को चरणबद्ध तरीके से समूह-ग की भर्तियां लौटाने पर जल्द फैसला होने वाला है।

पुलिस कांस्टेबल भर्ती का प्रस्ताव कई माह से राज्य लोक सेवा आयोग में लंबित है। आयोग के पास दूसरी भर्तियों का भारी बोझ है। इसी तरह कई और समूह-ग भर्तियों के प्रस्ताव लंबित हैं। ये सभी भर्तियां वापस यूकेएसएसएससी को मिलने से इनमें तेजी आएगी। क्योंकि पूर्व में भी यही आयोग समूह-ग की सभी भर्तियां कराता आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here