उत्तराखंड: ठंड से बचने के लिए कमरे में जलाई अंगीठी, दो की दम घुटने से मौत

नैनीताल। कड़ाके की ठंड से बचने के लिए बंद कमरे में अंगीठी जलाना एक बार फिर जानलेवा साबित हुआ। नैनीताल जिले में घर के अंदर अंगीठी जलाकर सोए हुए दो लोगों की गैस लगने से मौत हो गई। जबकि एक की हालात अभी भी गंभीर है। तीसरे मजदूर की हालत गंभीर होने पर उसे सुशीला तिवारी रेफर कर दिया है। जहां उसका इलाज चल रहा है।

जानकारी के अनुसार, रविवार की रात मल्लीताल क्षेत्र में बदायूं के तीन मजदूर अंगीठी जलाकर कमरे में सो गए। इस दौरान बंद कमरे में गैस लगने से तीनों की हालत बिगड़ गई। मजदूरों के परिजनों ने उनको संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। जब सोमवार शाम तक भी मजदूरों ने फोन नहीं उठाया तो परिजनों ने ठेकेदार को फोन किया। जिसके बाद रात ही ठेकेदार हल्द्वानी से नैनीताल पहुंचा। देर रात लगभग 12 बजे ठेकेदार मजदूरों के कमरे में पंहुचा तो कमरा अंदर से बंद था। बहुत आवाज देने के बाद भी जब मजदूरों ने कोई जवाब नहीं दिया तो दरवाजा तोड़ ठेकेदार अंदर घुस गया। जहां तीनों मजदूर मूर्छित अवस्था में पड़े थे।

जिसके बाद ठेकेदार ने पुलिस को सूचना दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस तीनों मजदूरों को बीडी पांडे अस्पताल ले आई। जहां डॉक्टरों ने बदायूं निवासी राजकुमार (21) व अवनेश (24) दो मजदूरों को मृत घोषित कर दिया। वहीं साजहांपुर मोनन्दर (21) की हालत गंभीर होने पर उसको सुशीला तिवारी अस्पताल रेफर कर दिया। डॉ. हाशिम अंसारी ने बताया कि अंगीठी की गैस लगने से दो मजदूरों की मौत हुई है। शवों को मोर्चरी में रख मृतकों के परिजनों को सूचित कर दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here