उत्तराखंड में जंगल की आग हुई जानलेवा, दो लोगों की मौत, दो गंभीर रूप से झुलसे

अल्मोड़ा। उत्तराखंड में वनाग्नि जानलेवा साबित हो रही है। अल्मोड़ा जिले में सोमेश्वर के जंगल में लगी आग ने दो लीसा श्रमिकों की जान ले ली। दो लीसा श्रमिक गंभीर रूप से झुलस गई हैं। दोनों को अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के बेस परिसर में भर्ती कराया गया था।प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें इलाज के लिए हल्द्वानी भेज दिया गया है।

अल्मोड़ा वन रेंज के अधिकारियों के मुताबिक गुरुवार शाम करीब साढ़े चार बजे सूचना मिली कि ताकुला विकासखंड अंतर्गत आने वाले गणनाथ के पास बेस्यूनाराकोट के जंगल में भीषण आग लग गई है। वनानि की घटना के वक्त उसी जंगल में दीपक, शीला, पूजा और ज्ञान लीसा दोहन का काम कर रहे थे। एकाएक जंगल की आग उनकी ओर बढ़ गई। आग बुझाने का प्रयास करते करते हुए एक श्रमिक आग की भीषण लपटों की चपेट में आ गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। तीन लीसा श्रमिक गंभीर रूप से झुलस गए हैं। इन श्रमिकों को उपचार के लिए अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के बेस परिसर में भर्ती कराया गया है। अल्मोड़ा के अस्पताल में इलाज के दौरान एक और श्रमिक ने दम तोड़ दिया।

बेस अस्पताल के सीएमएस डॉ अशोक ने बताया कि अस्पताल में आग से झुलसे हुए तीन लोगों को लाया गया है। ये लोग करीब 90 प्रतिशत से अधिक जल चुके हैं। इनका प्राथमिक उपचार किया जा रहा है। अस्पताल में बर्न वार्ड नहीं है। वहीं इलाज के दौरान एक लीसा श्रमिक ज्ञानेश ने भी दम तोड़ दिया। तारा और पूजा को प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर हल्द्वानी भेजा गया है। लीसा श्रमिकों के वनाग्नि की चपेट में आने के बाद वन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here