देहरादून। जिले के कालसी में छिबरौ जलविद्युत गृह की टनल में काम कर रहे दो मजदूर लापता हो गए हैं। दोनों के लापता होने की खबर आज रविवार की सुबह पता चली। जिसके बाद हड़कंप मच गया। लापता मजदूरों की ढूंढ-खोज के लिए परिजन और स्थानीय लोगों ने खूब हंगामा किया, लेकिन मौके पर मौजूद पुलिस प्रशासन और प्रबंधन इस बाबत मुंह खोलने को तैयार नहीं हुए।
जानकारी के मुताबिक थेपाराम पुत्र शोभाराम निवासी ग्राम सराडी, थाना कालसी जिला देहरादून और सीताराम पुत्र जिणीया निवासी ग्राम कलेथा, थाना पुरूवाला, जिला सिरमौर,  हिमाचल प्रदेश बीते शनिवार को छिबरौ टनल में प्रातः आठ बजे अपनी ड्यूटी पर गये थे। उनके साथी शाम को वापय आ गये थे, परन्तु उक्त दोनों मजदूर वापस नहीं लौटे। बताया जा रहा है कि शनिवार सुबह से उत्तराखंड जल विद्युत निगम द्वारा संचालित छिबरौ पावर हाउस की टनल के अंदर स्थित टरबाइन पर कुछ मजदूर पेंटिंग का कार्य कर रहे थे। शाम के वक्त पेंट की तेज गंध के कारण कार्य कर रहे मजदूरों को कुछ नशे का आभास हुआ। जिसके पश्चात कुछ मजदूर अपनी ड्यूटी पूर्ण कर बाहर निकल कर चले गए, परंतु वे दो मजदूर अपना कार्य करते रहे। बाद में इस ओर किसी ने ध्यान नहीं दिया कि टनल से बाहर नहीं आए।
आज रविवार की सुबह जब अन्य साथी मजदूर वहां पहुंचे तो उन्होंने उन दो लापता मजदूरों के बारे में बताया कि यह लोग कल शाम जब हम ड्यूटी पूर्ण करने के बाद अपने अपने घर चले गए थे तब तक  कार्य कर रहे थे। मौके पर जलविद्युत गृह के अधिकारी तथा कालसी थाना पुलिस मौजूद हैं। जानकारी के बाद मजदूरों परिजनों और स्थानीय लोगों ने लापता लोगों की खोजबीन करने के लिए हंगामा किया, लेकिन पुलिस प्रशासन और प्रबंधन इस बाबत कुछ बताने को तैयार नहीं दिखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here