किसानों की आय दोगुनी करने में जुटी है त्रिवेंद्र सरकार : गैरोला

थराली से हरेंद्र बिष्ट।                                  

उत्तराखंड राज्य सहकारी संघ के अध्यक्ष एवं राज्यमंत्री बृज भूषण गैरोला ने कहा कि किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए त्रिवेंद्र सरकार पूरी तरह से गंभीर प्रयासों में जुटी हुई हैं। इसमें साधन सहकारी समिति एवं बैंकों की भूमिका सर्वाधिक महत्वपूर्ण हैं। ऐसे में उन्हें मजबूत बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं।
अपने दो दिवसीय चमोली जिले के भ्रमण के दूसरे दिन पिंडर घाटी के थराली, देवाल एवं नारायणबगड़ विकासखंडों में गैरोला ने क्षेत्र के कई सहकारी समितियों के अध्यक्षों एवं समितियों के कर्मचारियों से वार्ता कर जानकारी प्राप्त की। इस दौरान देवाल व थराली में बैठकों में गैरोला ने कहा कि राज्य सरकार किसानों की आय को दोगुनी करने पर गंभीरता से तमाम तरह के कार्य कर रही हैं। इसके तहत आम किसानों को कृषि के नये संयंत्रों के साथ ही उन्नत बीजों का आवंटन किया जा रहा हैं। इसके साथ ही पशुपालकों के लिए भी कई तरह की योजनाएं संचालित की जा रही हैं। कृषि विकास के लिए साधन सहकारी समितियों एवं बैंकों को एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है। इन्हीं के माध्यम से किसानों को आसानी से ऋणों वितरण किया जा रहा हैं। ताकि किसान अपनी खेती-बाड़ी, पशुपालन को बढ़ावा दे सकें। कि समितियों को जल्द ही उचित मूल्य पर किसानों से उनके उत्पादों को खरीदने की जिम्मेदारी सौंपी जानी हैं। जिसके लिए समितियों के संचालन मंडल से लेकर आम कर्मचारियों को अभी से तैयारी शुरू कर लेनी चाहिए। चमोली जिले में जल्द ही फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाने की भी उन्होंने जानकारी दी।

इन मौके पर देवाल ब्लाक सभागार में देवाल के प्रमुख दर्शन दानू, देवाल समिति के अध्यक्ष आलम सिंह बिष्ट ने समितियों के कार्यों में आने वाली परेशानियों से अध्यक्ष को रूबरू करवाया। इस मौके पर विधायक प्रतिनिधि केडी मिश्रा, नरेंद्र बिष्ट, मंडल अध्यक्ष शीतल गड़िया, महामंत्री उमेश मिश्रा, सुंदर बिष्ट, दलवीर दानू आदि ने उनका स्वागत किया।
इधर थराली में विकासखंड सभागार में आयोजित बैठक में किसानों को घटिया बीज उपलब्ध कराने की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए गैरोला ने जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। देवाल भ्रमण के दौरान अध्यक्ष के सामने पूर्णा गांव के प्रगतिशील किसान भैरव दत्त मिश्रा ने बताया कि उद्यान विभाग के द्वारा गोभी का जो बीज दिया गया है, उसकी गुणवत्ता काफी खराब होने के कारण उसकी पौध तो उगी पर उसमें गोभी के फूल नहीं लग पा रहे हैं। जिसके कारण उन्हें पूरे खेत की पौधों को उखाड़ कर आलू बोने पर मजबूर होना पड़ा। इस शिकायत को अध्यक्ष ने गंभीरता से लेते हुए आवश्यक कार्रवाई की बात कही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here