पौड़ी। शिक्षा के मंदिर में अध्यापक ही नियमों की धज्जियां उड़ाने लगे तो ऐसे में स्कूल में पढ़ने आने वाले बच्चों की नींव कैसी होगी, इसका अंदाजा सहज लगाया जा सकता है। उत्तराखंड में सरकारी स्कूलों के मास्टरों की कारस्तानी लगातार सामने आ रही है। ऐसा ही एक मामला रिखणीखाल क्षेत्र के एक प्राइमरी स्कूल का है। जहां सहायक अध्यापक देवेंद्र लाल पर स्कूल में शराब पीकर आना, बच्चों के साथ मारपीट और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप है। इस मामले में जिला शिक्षाधिकारी प्रारंभिक शिक्षा सावेद आलम ने सहायक अध्यापक देवेंद्र लाल को निलंबित कर दिया है।

डीईओ सावेद आलम ने बताया कि शिक्षक स्कूल में शराब पीकर छात्र-छात्राओं के साथ मारपीट करता था साथ ही उनके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग करने की शिकायत मिली थी। उन्होंने बताया कि विभाग की ओर से इस मामले में बीते जनवरी और मई महीने में संबंधित शिक्षक से लिखित रूप में इस प्रकार की कार्रवाई की पुनरावृत्ति न करने की सख्त हिदायत दी गई थी, लेकिन सहायक अध्यापक अपनी हरकतों से बाज नहीं आया।

उन्होंने बताया कि कि शिक्षक ने विभागीय अफसरों के आदेशों की अवहेलना की. साथ ही कर्मचारी आचरण नियमावली का भी उल्लंघन किया। बीईओ रिखणीखाल की प्रारंभिक जांच में ये सभी आरोप सिद्ध हुए। जिसके बाद शिक्षक के खिलाफ यह अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here