पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष सुरेश गंगवार को कांग्रेस ने पार्टी से निकाला, वायरल हुई थी अश्लील वीडियो

ऊधमसिंह नगर। पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष और वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष ऊधमसिंह नगर के पति सुरेश गंगवार का एक प्राइवेट वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया। पार्टी के फरमान में यह भी लिखा है कि वह कई अन्य पार्टी विरोधी गतिविधियों में भी सम्मिलित थे।

दरअसल, कांग्रेस ने सुरेश गंगवार के निष्कासन को लेकर एक पत्र जारी किया, जिसमें इससे संबंधित सभी जानकारी लिखित हैं। पत्र में लिखा गया है, “वर्तमान में लोकसभा चुनाव गतिमान हैं। जहां एक ओर पार्टी के कार्यकर्ता दिन-रात एक करते हुए पार्टी प्रत्याशियों के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। वहीं आपके द्वारा पार्टी प्रत्याशियों का चुनाव प्रचार करने की बजाय विरोधी पार्टी के कार्यक्रमों एवं उनके नेताओं से नजदीकियां बढ़ाकर पार्टी अनुशासन को तोड़ा जा रहा है।”

पत्र में कहा गया, “जिला कांग्रेस कमेटी उधमसिंहनगर द्वारा आपके कार्य व्यवहार एवं सोशल मीडिया पर वायरल अश्लील वीडियो की लिखित रूप में शिकायत करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी को अवगत कराया है। आपके द्वारा किये जा रहे कृत्यों से पार्टी संगठन की छवि धूमिल हो रही है, जिसे प्रदेश अनुशासन समिति ने गंभीरता से लिया है। आपके द्वारा पार्टी की नीतियों के खिलाफ किये जा रहे कृत्यों को पार्टी नेतृत्व ने गंभीरता से लेते हुए इस सिलसिले में कराई गई जांच सही पाई गई। इसलिए आपको पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 वर्ष के लिए निष्कासित किया जाता है।”

गौरतलब है कि कुछ समय लहले सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें जिला पंचायत अध्यक्ष उधम सिंह नगर रेनू गंगवार के पति सुरेश गंगवार नजर आ रहे थे। वीडियो में सुरेश गंगवार एक महिला के साथ वीडियो कॉल करते दिखाई दे रहे थे। इस अश्लील वीडियो को लेकर कई तरह के गंभीर सवाल भी खड़े हुए।

ऐसे में कांग्रेस ने अब उन्हें पार्टी से बाहर निकाल दिया है। एक और तरह से सुरेश गंगवार चर्चा का केंद्र बने हुए हैं। बता दें कि पार्टी से निष्कासन पत्र जारी होने के हफ्ते भर बाद सुरेश गंगवार ने पार्टी छोड़ने का ऐलान किया। गौरतलब है कि निष्कासन का आदेश पहले सामने आया है, ऐसे में इस्तीफे का सवाल पैदा नहीं होता। इसे लेकर उनका काफी मजाक भी बन रहा है। इसमें कोई दोराय नहीं कि लोकसभा चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस को यह मामला भी एक झटके के रूप में तंग कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here