पौड़ी। जिले के जांबाज सैनिक मनदीप सिंह (23) ने सरहद पर फर्ज निभाते हुए देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दे दिया। पौड़ी जिले के सुदूरवर्ती गांव सकनोली, चौबट्टाखाल निवासी मनदीप सिंह पुत्र सत्यपाल सिंह जम्मू-कश्मीर के गुलमर्ग में शहीद हो गए हैं।
11वीं गढ़वाल राइफल के शहीद मनदीप सिंह का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके पैतृक गांव पहुंचेगा। जहां पूरे सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। मनदीप के शहीद होने की सूचना पर पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनके बलिदान को शत-शत नमन किया है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर संवेदनाएं व्यक्त की हैं।
उन्होंने लिखा है कि जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में सरहद पर अपना फर्ज निभाते हुए 11वीं गढ़वाल राइफल के 23 वर्षीय सतपुली, पौड़ी गढ़वाल निवासी मनदीप सिंह नेगी शहीद हुए हैं, मैं उनके बलिदान को शत-शत नमन करता हूं।

23 वर्षीय मनदीप सिंह पुत्र सत्यपाल सिंह पौड़ी के चौबट्टाखाल क्षेत्र के अंतर्गत सकनोली गाँव के रहने वाले थे। मनदीप के शहीद होने पर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने अपने सोशल मीडिया पेज के माध्यम से इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए उनके परिवार को इस दुख की घड़ी में सहनशक्ति देने की प्रार्थना की है।
सकनोली गांव के लोगों ने बताया कि मनदीप अपने माता-पिता की इकलौता औलाद था। मनदीप के माता-पिता घर पर ही खेती बाड़ी का कार्य करते हैं। कुछ समय पूर्व मनदीप की सगाई उसी क्षेत्र के डविला गाँव से हुई थी और अब विवाह की तैयारियां चल रही थीं।  अचानक से इस तरह की सूचना प्राप्त होने के बाद दोनों ही परिवारों में मातम छा गया है। पूर्व ब्लाक प्रमुख पोखडा सुरेंद्र सिंह रावत ने बताया कि मनदीप के शहीद होने पर पूरे क्षेत्र में दुख का माहौल है। कल शनिवार को मनदीप का पार्थिव शरीर उसके गांव सकनोली लाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here