पिथौरागढ़। प्रदेश में मानव-वन्यजीव संघर्ष की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। जिसमें आए दिन लोग जान गंवा रहे हैं। ताजा मामला पिथौरागढ़ जिले के गंगोलीहाट का है। यहाँ कोठेरा गांव में एक तीन साल के बच्चे को तेंदुए ने अपना शिकार बना लिया।

मिली जानकारी के मुताबिक कोठेरा गांव में दो साल तीन महीने का अंशु अपने ननिहाल में रह रहा था। सोमवार शाम को बच्चा अपने आंगन में ही खेल रहा था। इसी दौरान बच्चे को तेंदुआ उठा ले गया। परिजन जब आंगन में पहुंचे को आंगन में खून देख हड़कंप मच गया। परिजन और आस-पास के लोगों ने बच्चे को ढूंढा। गांव के लोग उसकी खोज में जंगल की ओर दौड़े। जिसके बाद घर से आधा किमी दूर ही बच्चा खून से लथपथ मिला। तब बच्चे की सांसे चल रही थी। जिसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

वहीं घटना के बाद से परिजनों में कोहराम मच गया है। मासूम की मां का रो-रो कर बुरा हाल है। इसके साथ ही गांव में भी हड़कंप मच गया है। घटना की जानकारी मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच गई है। वन विभाग की टीम ने गांव में गश्त शुरू कर दी है। बता दें कि इस से पहले भी अगस्त और सितंबर में भी तेंदुओं ने गंगोलीहाट के साथ ही बेरीनाग में दो बच्चों को मार दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here