देहरादून। यहां एक पांच साल की मासूम बच्ची के साथ दरिंदे ने हैवानियत की तमाम हदें पार कर दुष्कर्म किया और उसकी हत्या कर दी। उसने बच्ची की आवाज बंद करने के लिए उसका नेकर मुंह में ठूंस दिया था। इससे कुछ देर बाद ही मासूम की दम घुटने से मौत हो गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इन बातों के अलावा दुष्कर्म की भी पुष्टि हुई है।
कोतवाली थाना क्षेत्र से पांच साल की बच्ची सोमवार सुबह के वक्त गायब हुई थी। मां की सूचना पर पुलिस ने बच्ची की तलाश शुरू की। सीसीटीवी फुटेज में बच्ची किसी युवक के साथ जाती दिखाई दी। इस पर पुलिस ने चुनचुन महतो नाम के युवक को बुधवार शाम पांच बजे गोविंदगढ़ इलाके से गिरफ्तार किया। शुरुआत में वह अपनी बातों से पुलिस को उलझाता रहा। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बच्ची से दुष्कर्म कर हत्या की बात कुबूल की।
पुलिस के अनुसार आरोपी बच्ची को लेकर सोमवार करीब दो बजे रांघड़वाला में पहुंचा था। आरोपी ने स्वीकार किया कि उसके रांघड़वाला की झाड़ियों में ले जाकर बच्ची से दुष्कर्म किया और बच्ची की आवाज दबाने के लिए उसके नेकर को उसके मुंह में ठूंस दिया। इसके चलते कुछ देर बाद ही बच्ची ने दम तोड़ दिया।
शाम को चार बजे तक भी वह बच्ची के मृत शरीर के साथ वहीं रहा। जिस वक्त पुलिस ने आरोपी का गिरफ्तार किया, वह बेहद नशे में था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची से दुष्कर्म का खुलासा हुआ। फोरेंसिक टीम ने बच्ची के शरीर से डीएनए के लिए नमूने एकत्र किए हैं।
मासूम से दुष्कर्म और हत्या के आरोप में पकड़े गए चुनचुन महतो का इतिहास ही हैवानियत भरा है। उसने अपने गृह जिले में भी रिश्तेदार की पांच साल की बच्ची से हैवानियत की थी और दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर मार दिया था। उस वक्त आरोपी के किशोर होने के चलते आसानी से जमानत मिल गई थी।
आरोपी चुनचुन महतो इस वक्त 19 साल का बताया जा रहा है। वह कुछ समय पहले ही देहरादून आया था। यहां पर वह एक ठेकेदार के पास नौकरी करता था। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने बिहार में उसके गृह जिले बेगूसराय में पुलिस से जानकारी जुटाई। वहां के इनपुट से दून पुलिस दंग रह गई। पता चला है कि वर्ष 2016 में भी उसने वहां इसी तरह हैवानियत की थी। आरोपी ने अपने घर के पास ही रहने वाले रिश्तेदार की पांच साल की बेटी का अपहरण किया था और दुष्कर्म के बाद गला घोंटकर मार डाला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here