हरिद्वार। रोशनाबाद स्थित कलेक्ट्रेट भवन में कनिष्ठ सहायक के पद पर तैनात एक कर्मचारी ने कार्यालय में ही संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर जान दे दी। घटना के बाद से जिला प्रशासन में सनसनी मची हुई है। कर्मचारी ने फांसी लगाने से पहले सुसाइड नोट छोड़ा है। जिसमें उसने अपनी मौत का जिम्मेदार खुद को ही बताया है।

कर्मचारी की पहचान कमल कुमार (28) पुत्र परागीलाल निवासी रावली महदूद के रूप में हुई है। कमल डीएम कार्यालय में आरटीआई अनुभाग में कनिष्ठ सहायक के पद में तैनात था। बताया जा रहा है कि सोमवार को सभी कार्यालय से छुट्टी के बाद घर चले गए थे। जबकि कुछ कर्मचारी कार्यालय में ही थे।

देर रात डीएम कार्यालय के कमरा नंबर 222 में कर्मचारी ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। कार्यालय में मौजूद अन्य कर्मचारियों ने अनहोनी की आशंका होने के चलते कमरे का दरवाजा खटखटाया। लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई। जिसके बाद कर्मचारियों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सोमवार की रात करीब साढ़े 11 बजे पुलिस को सूचना मिली। जिस पर तुरंत एक टीम मौके पर पहुंची। दरवाजे को तोड़कर पुलिस अंदर पहुंची तो कमल पंखे के सहारे फांसी के फंदे से लटका हुआ था।

सिडकुल थाना प्रभारी नरेश राठौड़ ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here