हरिद्वार। सोमवती अमावस्या पर सुबह से गंगा घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी हुई है। श्रद्धालु गंगा स्नान कर दान पुण्य कर रहे हैं। वहीं इस बार सोमवती अमावस्या पर 19 साल बाद दुर्लभ योग बन रहा है। सोमवती अमावस्या व्यक्ति के लिए पुण्यदायी और जीवनदायी है और उस पर सावन में सोमवती अमावस्या पड़ने का दुर्लभ योग बन रहा है। जिससे पर्व की महत्ता बढ़ गई है। इस के चलते गंगा स्नान करने के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी है। श्रद्धालु गंगा में आस्था की डुबकी लगाकर पुण्य और मोक्ष की कामना कर रहे हैं। गंगा स्नान करने के लिए यहां पर दूर-दूर से श्रद्धालु आए हैं।

सोमवती अमावस्या के स्नान पर्व का विशेष महत्व माना जाता है। मान्यता है कि इस अवसर पर मां गंगा में स्नान करने से सभी कष्ट दूर होते है। मनोकामनाएं पूरी होती हैं और मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस अवसर पर पितरों के निमित्त पूजा करने से जीवन मे सुख और शांति आती है। श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ने की उम्मीद के चलते पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए हैं।

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि कावड़ मेले के बाद सावन में पड़ी सोमवती अमावस्या पर भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु के आने को देखते हुए ही सुरक्षा बल तैनात किया गया है और उसी के हिसाब से फोर्स भी मिला है। मेला क्षेत्र को 11 सुपर जोन, 21 जोन और 69 सेक्टर में बांटकर अधिकारियों और सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. साथ ही पारा मिलिट्री फ़ोर्स भी तैनात की गई है और ट्रैफिक को लेकर भी प्रबंध किया गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here