स्वरोजगार के इच्छुक युवाओं के लिये धामी ने पेश किया मेगा प्लान!

मुख्यमंत्री ने कहा

  • स्वरोजगार योजनाओं के लिये 15 दिसंबर तक पूरा करना होगा लोन का निर्धारित लक्ष्य
  • हर सप्ताह विभिन्न योजनाओं के तहत दिये जाने वाले लोन की समीक्षा करें डीएम
  • केंद्र और राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का करें व्यापक प्रचार-प्रसार
  • लोन के लिए अनावश्यक आपत्ति लगाने वालों पर की  जाए सख्त कार्रवाई
  • कैंप लगाकर जन समस्याओं का समाधान करें जिलास्तरीय अफसर और बैंकर्स

देहरादून। आज मंगलवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने स्वरोजगार के इच्छुक युवाओं के लिये मेगा प्लान पेश कर दिया है। सचिवालय में स्वरोजगार योजनाओं की प्रगति बैठक लेते हुए सीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस वर्ष विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन देने का लक्ष्य रखा गया है, उसको 15 दिसम्बर 2021 तक हर हाल में पूर्ण किया जाये।
उन्होंने कहा कि संबंधित विभागीय अधिकारी एवं बैंकर्स आपसी समन्वय स्थापित कर हर हाल में लक्ष्य पूर्ण करें। उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन दिये जा रहे हैं, उनकी प्रत्येक सप्ताह प्रगति समीक्षा की जाये। साथ ही केंद्र और राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की विभिन्न माध्यमों से लोगों को जानकारी दी जाए। विभिन्न योजनाओं के तहत जो लोन दिये जा रहे हैं, उनकी आम जन को जानकारी हो। इसके लिए जिलाधिकारियों एवं बैंक के अधिकारियों द्वारा अभियान चलाया जाये। एक ही जगह पर लोगों की लोन की समस्या का समाधान हो, जिला स्तरीय अधिकारी एवं बैंक के अधिकारी कैंपों के माध्यम से जन समस्याओं का समाधान करें।

धामी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि 15 दिसम्बर 2021 तक निर्धारित लक्ष्य पूर्ण करने के साथ ही जिन योजनाओं में अधिक आवेदन प्राप्त हो रहे हैं, लक्ष्य से अधिक लोन स्वीकृत करने के लिए प्रयास किये जाए। अनावश्यक आपत्तियां लगाने वालों पर सख्त कार्रवाई भी की जाये। बैंकों द्वारा आवेदन प्राप्त होने के एक सप्ताह के अन्दर लोन की सम्पूर्ण कार्यवाही की जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि योजनाओं का लाभ लोगों को समय पर मिले। अनावश्यक रूप से कार्यालयों के चक्कर न लगाना पड़े।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत बढ़ाये गये लक्ष्य को भी समय पर पूर्ण कर लें। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत लोन स्वीकृति की स्थिति पर निगरानी के लिए जिलाधिकारी निरन्तर बैंकर्स के साथ समन्वय स्थापित करें। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने एनआरएलएम, वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्वरोजगार योजना, होम स्टे, स्पेशल कम्पोनेंट प्लान, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, एनयूएलएम, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन प्रोग्राम, स्टैंड अप इंडिया, पीएम स्वनिधि, मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना की प्रगति की समीक्षा की।
बैठक में अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव एल. फैनई, सचिव अमित नेगी, शैलेश बगोली, एसए मुरूगेशन, राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के वरिष्ठ अधिकारी, वर्चुअल माध्यम से सभी जिलाधिकारी और बैंकर्स उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here