चमोली। बीते बुधवार की रात परसारी गांव के पास गौर सिंह नाले में बादल फट गया। जिससे क्षेत्र में भारी तबाही होने के साथ ही कई सड़कें क्षतिग्रस्त हो गईं। जोशीमठ-नीती बॉर्डर मार्ग पर मलबा और बोल्डर आने से मार्ग बाधित हो गया है। अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और आवाजाही शुरू कराने के लिये रास्ते को खोलने का काम जारी है।
घटनाक्रम के मुताबिक परसारी गांव में बीती रात गड़गड़ाहट की तेज आवाज आई और गौर सिंह नाले में अचानक उफान आ गया। हालांकि बादल फटने की घटना में किसी तरह की जनहानि और पशु हानि नहीं हुई है। भवनों को नुकसान होने की सूचना भी नहीं है, लेकिन काश्तकारों के खेत सैलाब संग बह गए। जिस जगह बादल फटने की घटना हुई वो जोशीमठ विकाखंड में स्थित औली और बुग्याल क्षेत्रों के करीब स्थित है।
बादल फटने के कारण यहां जोशीमठ-नीती बॉर्डर मार्ग पर मलबा आ गया। रोड पर बोल्डर आने से गाड़ियों की आवाजाही नहीं हो पा रही। जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बादल फटने की घटना के बाद ढाक, तपोवन, सुराइथोटा, रैणी, भलागांव और कैलाशपुरी समेत नीती घाटी के करीब एक दर्जन गांव अलग-थलग पड़ गए हैं। गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है।
नायब तहसीलदार जोशीमठ और राजस्व निरीक्षक प्रभावित क्षेत्र में पहुंचकर नुकसान का जायजा ले रहे हैं। रोड खुलवाने की कोशिशें भी जारी हैं। चमोली जनपद में आज गुरुवार को भी बारिश का दौर जारी है। बारिश की वजह से कई संपर्क मार्ग क्षतिग्रस्त हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here