उत्तरकाशी। उत्तराखंड में इन दिनों मोरी सालरा गांव में दलित युवक की पिटाई का मामला सर्खियों में बना हुआ है। अनुसूचित जाति के युवक की पिटाई प्रकरण में अब पीड़ित युवक आयुष के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज हो गया है। पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर उसके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने सहित कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

बता दे कि मोरी के सालरा गांव में बीती नौ जनवरी को कौंल मंदिर में प्रवेश करने पर अनुसूचित जाति के युवक को रातभर बंधक बनाकर पीटा गया था। इस मामले में पुलिस ने पांच लोगों को खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया था। बीते 21 जनवरी को सालरा गांव निवासी करतार सिंह ने इस मामले में न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था।
उनका आरोप था कि बैनोल गांव निवासी आयुष मंदिर में आकर सीधे यहां जल रही धूनी में कूद गया। मंदिर में मौजूद थानी (मंदिर की देखरेख करने वाला व्यक्ति) रामदयाल के साथ मारपीट की। आयुष ने मंदिर में प्रतीकों को खंडित कर व गर्भगृह में घुस कर धार्मिक भावनाओं को भी ठेस पहुंचाई।

मोरी थाना प्रभारी मोहन सिंह कठैत ने बताया कि न्यायालय से मुकदमा दर्ज किए जाने का आदेश पत्र प्राप्त हुुआ. जिसके तहत आयुष के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, नुकसान पहुंचाने व मारपीट के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। विवेचना शुरू कर दी गई है। सीओ ऑपरेशन उत्तरकाशी प्रशांत कुमार ने बताया कि कोर्ट के दिशा निर्देश पर आयुष के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। वहीं आयुष की ओर से कराए गए मुकदमे में विवेचना लगभग पूरी हो चुकी है। इस मुकदमे में जल्द ‌आरोप पत्र दायर कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here