देहरादून। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रतिनिधिमंडल ने बागेश्वर उपचुनाव को लेकर मुख्य चुनाव अधिकारी से भेंट की है। मंगलवार को बागेश्वर उपचुनाव होने जा रहे हैं। इस दौरान सेंट्रल ऑब्जर्वर पर पूर्वाग्रह से ग्रसित होने का आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की।

बता दे कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी रविवार शाम बागेश्वर में चुनाव प्रचार थमने के बाद ग्वालदम लौट आये थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि बागेश्वर उपचुनाव में भाजपा पूर्व कैबिनेट मंत्री चन्दन रामदास के विकास के विजन को आगे बढ़ाने का कार्य करेगी। उन्होंने दावा किया कि बागेश्वर चुनाव एकतरफा है। बागेश्वर की जनता ने मन बना लिया है कि 5 सितंबर को भाजपा प्रत्याशी पार्वती दास के पक्ष में बम्पर वोट डालकर भाजपा प्रत्याशी को विधानसभा तक पहुंचाएगी।

व​हीें बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने मुख्य चुनाव आयुक्त को सेंट्रल आब्जर्वर राजेश कुमार को हटाने की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि राजेश कुमार जो बागेश्वर उपचुनाव में चुनाव आयोग की ओर से सेंट्रल आब्जर्वर बनाए गए हैं। उनका आचरण संदेहास्पद तथा अत्यंत अशोभनीय है। वो एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को प्रताड़ित कर रहे हैं। तो वहीं अधिकारियों पर भी इसके लिए अनुचित दवाब बना रहे हैं। साथ ही वे कांग्रेस पार्टी के सक्रिय सदस्य के समान कार्य करते हुए, कांग्रेस प्रत्याशी को परोक्ष तथा अपरोक्ष लाभ पहुंचा रहे हैं।

गौरतलब है कि बागेश्वर उपचुनाव के लिए प्रचार थम चुका है। 5 सितंबर को बागेश्वर विधानसभा उपचुनाव के लिए वोटिंग होनी है। बागेश्वर विधानसभा सीट उपचुनाव का परिणाम 8 सितंबर को घोषित होगा। बागेश्वर उपचुनाव में पार्वती दास बीजेपी की उम्मीदवार हैं। कांग्रेस की ओर से बसंत कुमार चुनाव लड़ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here