देहरादून। विद्यालयी शिक्षा, प्रौढ़ शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री अरविन्द पाण्डेय ने अटल उत्कृष्ट विद्यालय के रूप में चयनित राजकीय इंटर कॉलेज चौड़ामेहता, राजकीय इंटर कालेज पाटी, राजकीय बालिका इंटर कॉलेज लोहाघाट, राजकीय इंटर कॉलेज बाराकोट का आज शनिवार को विधिवत शुभारंभ किया। साथ ही राजकीय इंटर कॉलेज चम्पावत का वर्चुवली शुभारंभ किया।
इस मौके पर उन्होंने कहा कि चयनित अटल उत्कृष्ट विद्यालय में अब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से मान्यता प्राप्त होने के कारण विद्यालय में अंग्रेजी शिक्षा मिलने से निर्धन परिवार के बच्चे भी अंग्रेजी भाषा में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ग्रहण कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में चयनित 190 अटल उत्कृष्ट विद्यालय हैं। शिक्षकों के 797 पदों की आवश्यकता है, इस आवश्यकता की पूर्ति हेतु 3950 टीचरों ने आवेदन किया है। जिनकी स्क्रीनिंग 15 जुलाई को होगी जिससे अटल उत्कृष्ट विद्यालयों को योग्य शिक्षक प्राप्त होंगे।

पांडे ने कहा कि उत्तराखंड बोर्ड द्वारा संचालित विद्यालयों को सीबीएसई बोर्ड द्वारा मान्यता मिलने से विद्यालय में अब स्मार्ट क्लासेस के अलावा अन्य अत्याधुनिक पद्धति से जुड़ी शिक्षा प्रदान की जाएगी। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि प्रदेश में चयनित 190 अटल उत्कृष्ठ विद्यालय निर्धन परिवार के बच्चों के सर्वांगीण विकास में बेहद सहायक सिद्ध होंगे बच्चों को प्रशिक्षित शिक्षकों की ओर से उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिलेगी जिससे उत्तराखंड में शिक्षा के नए उच्च मापदंड स्थापित होंगे। प्रदेश सरकार राज्य में सभी को समान अवसर प्रदान करने, सबको अच्छी शिक्षा प्रदान करने, शैक्षणिक कार्यों में उत्कृष्टता लाने शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने और शिक्षा के उन्नयन के लिए कार्य कर रही है। जिसके परिणाम स्वरूप ही नीति आयोग की सर्वे में राज्य उत्कृष्ट शिक्षा की दिशा में चौथे पायदान पर पहुँच गया है किंतु सरकार का लक्ष्य इसे पहले पायदान पर पहुचाने का है।

उन्होंने कहा कि हम नई शिक्षा नीति का आकलन करते हुए अटल उत्कृष्ट विद्यालयों में कक्षा पाॅच तक मातृ भाषा में पढ़ायेंगे तथा कक्षा 6 से शतप्रतिशत अंग्रेजी माध्यम में पढ़ायेंगे। उत्तराखण्ड के बच्चों का भविष्य उज्ज्वल हो इसके लिए शिक्षकों को अहम भूमिका निभानी होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश को विकास के मानकों के अनुसार आगे बढ़ाने में सभी को अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी। कोविड-19 के कारण आफ लाईन एडमिशन न हो पाने के कारण अब आनलाइन एडमिशन पोर्टल educationportal.uk.gov.in की भी शुरुआत कर दी गयी है। उनके द्वारा विद्यालयों में स्थापित माॅ सरस्वती की प्रतिमा का भी अनावरण किया।

इस अवसर पर पाण्डेय ने विद्यालयों में पौधरोपण भी किया। उन्होंने कहा कि प्रकृति का संरक्षण एवं संवर्धन करना हम सभी का नैतिक दायित्व है। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक पूरन फर्त्याल ने कहा कि अंग्रेजी आज के दौर में बुनियादी आवश्यकता है। ग्रामीण अंचलों में सरकारी विद्यालयों के बच्चों का सामान्य ज्ञान काफी अच्छा होता है परन्तु जब कम्यूनिकेशन स्किल की बात आती है तो कहीं न कहीं ग्रामीण अंचलों के बच्चे पीछे हैं। ग्रामीण अंचलों के बच्चे भी प्राइवेट स्कूलों के बच्चों की तरह कम्यूनिकेशन स्किल एवं अंग्रेजी भाषा में भी आगे रहें। उन्होंने कहा कि जिस सपने के साथ इस योजना की आधार शिला रखी जा रही है। उस लक्ष्य को प्राप्त करने में शिक्षकों को अपनी पूरी तन्मयता से मुख्य भूमिका निभानी होगी।

कार्यक्रम में विधायक लोहाघाट पूरन फर्त्याल, अध्यक्ष जिला पंचायत ज्योति राय निदेशक शिक्षा कुमाऊं रघुनाथ आर्य, उप जिलाधिकारी अनिल गर्ब्याल, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी पुरोहित, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक डीएस राजपूत, आदि उपस्थित थे। इससे पूर्व श्री पांडेय के नेतृत्व में रीठा साहिब गरुद्वारा परिसर में खराब हो रही घास की कटाई की और लोगों को भी सफाई के लिए प्रेरित किया। विधायक चम्पावत कैलाश गहतोड़ी वर्चुवली जुड़े रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here