‘निशंक समेत 11 भाजपा नेताओं की पोस्टों पर करें मैनिपुलेटेड मीडिया टैगिंग’

  • टूलकिट मामले में अब चिट्ठीबाजी शुरू, कांग्रेस ने ट्विटर इंडिया को पत्र लिखकर उठाई मांग

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को कथित रूप से धूमिल करने के मामले में ‘टूलकिट’ को लेकर अब चिट्ठीबाजी शुरू हो गई है। कांग्रेस ने ट्विटर इंडिया को चिट्ठी लिखकर 11 भाजपा नेताओं की पोस्टों पर मैनिपुलेटेड मीडिया टैगिंग करने की बात कही है। कांग्रेस ने 11 नेताओं के ट्वीट भी ट्विटर के लीगल डिपार्टमेंट को भेजे हैं और कहा है कि नेताओं पर एक्शन लिया जाए।

इन 11 भाजपा नेताओं पर एक्शन कि मांग

कांग्रेस ने यह पत्र ट्विटर की लीगल हेड विजया गड्डे और लीगल डिपार्टमेंट के वाइस प्रेसिडेंट जिम बेकर को लिखा है। उधर ट्विटर इंडिया को दिल्ली पुलिस के नोटिस के बाद अमेरिका स्थित ट्विटर हेडक्वार्टर ने मामला जिम बेकर को ही सौंपा है।
कांग्रेस ने लिखा है- हमने पहले भी आपको फर्जी टूलकिट के बारे में जानकारी दी थी, जिसे कुछ भाजपा नेताओं ने गलत तरीके से सियासी फायदा उठाने के लिए बनाया है। ये नेता अपने ट्विटर हैंडल से कांग्रेस और उसके लीडर्स के खिलाफ झूठी, मनगढ़ंत और खतरनाक जानकारियां फैला रहे हैं। हमने 25 मई को भेजी चिट्ठी में आपको बताया था कि मोदी सरकार के कुछ मंत्री अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल्स से ये साजिश रच रहे हैं।
पत्र में कहा गया है… ‘आपने हमसे इन ट्वीट्स के यूआरएल और अन्य चीजें मांगी थीं। इन नेताओं द्वारा 18 मई को किए गए इन ट्वीट्स का लिंक हम आपको भेज रहे हैं। ये गलत नीयत से किए गए थे और पूरे भारत में झूठ और प्रोपेगेंडा फैलाने के लिए ट्विटर के सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।
उम्मीद है ट्विटर एक्शन लेगा।’
कांग्रेस ने कहा कि #CongressToolkitExposed हैशटैग के साथ भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने पोस्ट की थी। इसी तरह अन्य नेताओं ने भी पोस्ट की, जिसे ट्विटर ने मैनिपुलेटेड मीडिया की-वर्ड से टैग किया है। पात्रा के खिलाफ छत्तीसगढ़ के रायपुर में इसी मामले को लेकर केस भी दर्ज किया गया है। अगर कोई केंद्रीय मंत्री अपने अकाउंट से ऐसी जानकारियां शेयर करता है तो लोग उसे सही ही मानेंगे।
पत्र में कहा गया है…‘ऐसे में इस तरह के सभी अकाउंट से किए गए ट्वीट को मैनिपुलेटेड मीडिया घोषित करना जरूरी हो जाता है। हम उम्मीद करते हैं कि हमने फर्जी टूलकिट को लेकर जिन अकाउंट्स का जिक्र किया है, उन पर भी वैसा ही एक्शन लिया जाएगा, जैसा एक्शन ट्विटर के प्लेटफार्म के गलत इस्तेमाल किए जाने पर लिया जाता रहा है।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here