मानकों के अनुरूप सड़क चौड़ीकरण न होने पर विभाग ने किया निरीक्षण

  • अभियंताओं ने दिए ठेकेदार को आवश्यक दिशा-निर्देश

थराली से हरेंद्र बिष्ट।
क्षेत्र के सैन्य बाहुल्य गांव सवाड़ गांव को जोड़ने वाली मोटर सड़क देवाल-कांडेई- सवाड़ के चैड़ीकरण का कार्य मानकों के अनुरूप ना होने के आरोपों के बाद कार्यदाई संस्था पीएमजीएसवाई कर्णप्रयाग डिवीजन के अभियंताओं ने पंचायत प्रतिनिधियों के साथ चैड़ीकरण के कार्य का स्थलीय निरीक्षण कर ठेकेदार को आवश्यक निर्देश दिए। इस मौके पर निर्णय लिया गया कि जब तक चैड़ीकरण के तहत आपत्ति वाले बिंदुओं पर सड़क ठीक नहीं की जाती हैं, तब तक सड़क पर पीसी (डामरीकरण) का कार्य शुरू नहीं किया जाएगा।

दरअसल नब्बे के दशक में करीब 10 किमी देवाल-कांडेई-सवाड़ मोटर सड़क का निर्माण कार्य शुरू किया गया था। तब इस सड़क पर यातायात कम होने के कारण सड़क को अधिक चैड़ाई में नहीं काटा गया था। किंतु बाद में इसी सड़क से किमी 4 से घेस घाटी के 4 गांवों के लिए कुनारबंड-घेस-हिमनी-बलाड़ मोटर सड़क के निर्माण के बाद से अचानक इस सड़क पर ट्रैफिक बढ़ जाने के कारण सड़क की चैड़ाई बढ़ाए जाने की क्षेत्रीय जनता के द्वारा मांग की जाने लगी। जिस पर सरकार के द्वारा पीएमजीएसवाई के तहत चैड़ीकरण एवं पीसी के कार्य की स्वीकृति दी गई। गत वर्ष से इस सड़क पर 10 किमी सड़क पर चैड़ीकरण का कार्य शुरू हुआ। और अब विभाग के द्वारा सड़क पर पीसी का कार्य शुरू करने का प्रयास शुरू किया गया। परंतु इस बीच ही सवाड़ क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने मानक के अनुरूप सड़क पर डबल कटिंग का कार्य नहीं करने पर आपत्ति व्यक्त करते हुए पीएमजीएसवाई के आलाधिकारियों के साथ ही जिला प्रशासन एवं शासन को पत्र भेजकर कटिंग का कार्य मानकों के अनुरूप किए जाने की मांग की।

जिस पर बुधवार को पीएमजीएसवाई कर्णप्रयाग के सहायक अभियंता नीरज कांडपाल ,अवर अभियंता प्रदीप सिंह पंवार व चंद्र भूषण, हिमांशु पांडे ने सवाड जिला पंचायत वार्ड की सदस्य आशा धपोला,सवाड़ की ग्राम प्रधान कंचना देवी, क्षेत्र पंचायत सदस्य दीक्षा देवी, आलम सिंह बिष्ट, धन सिंह धपोला, केदार मेहरा, बलवंत राणा, गोविंद बिष्ट, खिलाप सिंह मेहरा, कलम सिंह खत्री, लौसरी के प्रधान अरविंद भंडारी आदि के साथ किमी शून्य से 10 तक सड़क का संयुक्त निरीक्षण किया। इस दौरान ग्रामीणों ने सड़क पर मिनकांे के अनुरूप सड़क कटिंग सहित अन्य कार्यों नही होने वाले स्थानों को दिखाया। सड़क के स्थलीय संयुक्त निरीक्षण के बाद देर सांय सवाड गांव में एक संयुक्त बैठक आयोजित की गई जिस में पीएमजीएसवाई के अभियंताओं ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि जबतक ठेकेदार के द्वारा मानकों के अनुरूप कटिंग सहित अन्य जरूरी कार्य पूरे नही किए जाते हैं तब तक सड़क पर ठेकेदार को पीसी के तहत डामरीकरण का कार्य शुरू नही करने दिया जाए। बैठक में अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि सड़क पर किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए अतिक्रमणकारियों को नोटिस दे कर नियमानुसार उन्हे हटाया जाएगा। इस अवसर पर जिपंस आशा धपोला एवं प्रधान कंचना देवी ने कहा कि किसी भी हालत में इस सड़क के चैड़ीकरण, सुधारीकरण एवं डामरीकरण में नियमों की अंदेखी को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here