रिटायर्ड इंजीनियर के घर से मिले पांच कंकाल, चार साल से एकांत जीवन जी रहा था परिवार…

बेंगलुरु। चित्रदुर्ग जिले से एक बेहद सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक घर से एक ही परिवार के पांच सदस्यों के कंकाल मिले हैं। कंकाल मिलने के बाद पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर कंकालों को जांच के लिए भिजवा दिए है।

जानकारी के अनुसार, चित्रदुर्ग के जेल रोड स्थित एक घर के अंदर पुलिस को पांच लोगों के कंकाल मिले हैं। इसकी सूचना पाकर डीएसपी अनिल कुमार ने पहुंची और निरीक्षण किया। वहीं फोरेंसिक टीम और अन्य अधिकारियों ने सीन ऑफ क्राइम का दौरा किया और नमूने एकत्र किए। यह घटना तब सामने आई जब पुलिस को एक खोपड़ी के बारे में जानकारी मिली जो एक घर के सामने देखी गई थी। यह स्पष्ट नहीं है कि घटना कब हुई और मौत के कारण क्या है।

बताया जा रहा है कि यह घर एक सेवानिवृत्त पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यकारी अभियंता जगन्नाथ रेड्डी का था। रेड्डी अपनी पत्नी प्रेमक्का और बेटी त्रिवेणी और बेटों कृष्णा रेड्डी और नरेंद्र रेड्डी के साथ रहते थे। वहीं आसपास से पूछताछ करने से पुलिस को पता चला है कि जगन्नाथ रेड्डी लगभग 80 वर्ष के थे और उनके किसी भी बच्चे की शादी नहीं हुई थी। परिवार मुश्किल से किसी से बातचीत करता था और अपने तक ही सीमित रहता था। उन्होंने पिछले तीन साल से परिवार के किसी भी सदस्य को नहीं देखा है।

घटना तब सामने आई जब कुछ लोगों ने घर के दरवाजे पर एक खोपड़ी देखी जो आंशिक रूप से खुली हुई थी। निवासियों ने पुलिस को सूचना दी। घर में घुसने के बाद पुलिस को पांच आंशिक रूप से क्षत-विक्षत शव मिले। पुलिस को संदेह है कि दरवाजा चोरों ने खोला होगा और गली के कुत्ते उसमें से घुसकर खोपड़ी को घर से बाहर ले आए होंगे।

पुलिस ने पवन कुमार से शिकायत ली है, जो जंगनाथ रेड्डी का रिश्तेदार बताया जाता है। शिकायतकर्ता ने दावा किया कि वह कई वर्षों से जगन्नाथ रेड्डी के संपर्क में नहीं था। उन्हें शक है कि ये कंकाल जगन्नाथ और उनके परिवार के हो सकते हैं। पुलिस को 2019 का एक कैलेंडर मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here