दून : पबजी के शौकीन दारोगा के बेटे ने लगाई फांसी!

  • परिजन बोले – देर रात तक मोबाइल पर पबजी गेम खेलता रहता था उनका बेटा

देहरादून। एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। हालांकि परिजनों ने पुलिस को बताया कि युवक पबजी गेम खेलने का शौकीन था, जिसके कारण वह देर तक सोता था। पुलिस आत्महत्या के कारणों की जांच कर रही है। 
थानाध्यक्ष नत्थीलाल उनियाल ने बताया कि प्रणय कुमार (पुत्र अजय कुमार) निवासी ऋषि विहार ने आत्महत्या की है। प्रणय के पिता उड़ीसा में सीआईएसएफ के एएसआई पद पर तैनात हैं। प्रणय ने बीसीए की पढ़ाई की है। लॉकडाउन के बाद से वह घर में रह रहा था। सोमवार को दोपहर प्रणय को खाना देने उसकी मां उसके कमरे में गई तो वह पंखे पर चुन्नी के फंदे के सहारे से लटका हुआ था। परिजन उसे कोरोनेशन अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। थानेदार ने बताया प्रणय के पास से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।
परिजनों ने पुलिस को बताया कि वह पबजी गेम खेलता था और रात को देर से सोता था। इसी वजह से वह अगले दिन देरी से उठता था, लेकिन इसको लेकर परिजनों और प्रणय के बीच कभी विवाद भी नहीं हुआ। दरअसल पबजी गेम लंबे समय से विवादों में है। सरकारें इसे बैन तक करने की बात कर चुकी है। देश-विदेशों में कई युवाओं के दिलोदिमाग पर इसका गहरा असर देखा गया है। इसके कारण कई युवा और बच्चे आत्महत्या कर चुके हैं। गेम को विकसित करने वालों ने गत वर्षों से इसमें कुछ बदलाव भी किए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here