देहरादून : आईजी की ‘जांच’ एसपी सिटी के हवाले!

  • पुलिस मुख्यालय तक पहुंची मामले की शिकायत, कप्तान ने जांच एसपी सिटी श्वेता चौबे को सौंपी  

देहरादून। राजधानी में बड़े पद पर तैनात एक वरिष्ठ आईपीएस अफसर पर पुलिस चौकी में एक युवक का बुरी तरह उत्पीड़न करने का आरोप लगा है। आरोप है कि अधिकारी ने एक मामले को लेकर युवक के साथ हैवानियत की हदें पार कर दीं। पीड़ित परिवार के अनुसार इसमें चौकी का स्टाफ भी शामिल रहा। इस मामले की शिकायत पर उन्होंने पुलिस मुख्यालय में की है। पुलिस कप्तान ने इस प्रकरण की जांच एसपी सिटी श्वेता चौबे को सौंपी है। 
मामला थाना कैंट की बिंदाल चौकी का बताया जा रहा है। मामले की शिकायत अंगद अरोड़ा पुत्र अरविंदर अरोड़ा निवासी विजय पार्क ने डीजीपी से की है। उसने शिकायत में बताया कि उक्त आईपीएस अफसर ने एक मामले विशेष को लेकर उसे फोन किया और मदद मांगी थी। इस पर अंगद ने पिता को साथ लाने की बात कही तो आईपीएस अफसर ने उसे अकेले आने को कहा। 
अंगद उसकी बातों में आ गया और सोमवार को दोपहर करीब दो बजे बिंदाल चौकी पहुंच गया। अंगद का आरोप है कि वहां पहुंचते ही आईपीएस अफसर ने उसे कई थप्पड़ जड़ दिए। इसके बाद उसे कपड़े उतारने को कहा। उसने जब कपड़े नहीं उतारे तो चौकी के चार पुलिसकर्मियों ने जबरन उसके कपड़े उतारे। इसके बाद फट्टे से उसकी कमर व कमर के निचले भाग पर लगातार प्रहार किये गये। वह चिल्ला न सके, इसके लिए उसका मुंह कपड़े से बंद कर दिया गया था।
अंगद का आरोप है कि आईपीएस ने अपनी जेब से सिगरेट निकाली और उसे पीने के लिए कहा। उसने मना कर दिया तो इसी सिगरेट को उसके हाथ से बुझा दिया। इस मामले में पुलिस कप्तान ने जांच एसपी सिटी श्वेता चौबे को सौंपी है। 
डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने कहा कि मामला मेरे संज्ञान में है। इस प्रकरण की जांच एसपी सिटी को दी गई है। जांच के बाद ही अगली कोई कार्रवाई की जा सकती है। उधर मामले की पुष्टि करते हुए डीजी कानून व्यवस्था। अशोक कुमार का कहना है कि पुलिस चौकी में युवक से मारपीट में मामले की शिकायत पुलिस मुख्यालय में आई है। एसएसपी देहरादून को मामले की जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here