समुद्री रास्ते से आतंकवादी हमले की आशंका

  • नौसेना प्रमुख ने देश पर समुद्री रास्ते से आतंकवादी हमले की आशंका जताई
  • पाकिस्तान नौसेना ने भारतीय पनडुब्बी को सीमा में घुसने से रोकने का दावा किया

नई दिल्ली : नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने आज भारत-प्रशांत क्षेत्रीय संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘हमारे पास इस तरह की जानकारियां हैं कि आतंकवादियों को कई तरह से हमले का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, इसमें समुद्री रास्ते से हमले का भी विकल्प शामिल है.’ गौरतलब है कि मुंबई पर हुए 26 /11 के हमले के समय भी भारत पर समुद्र के रास्ते आतंकवादी हमला पहले भी हो चुका है. वर्ष 2008 में 26 नवंबर को 10 पाकिस्तानी आतंकवादियों ने समुद्र के रास्ते ही मुंबई पर हमला किया था, जिसमे 150 से अधिक लोग मारे गए थे.
नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा ने पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा, ‘भारत ने सरकार समर्थित आतंकवाद की गंभीर चुनौती का सामना किया है और कर रहा है, अभी तीन सप्ताह पहले हमने पुलवामा में आतंकी हमले की चुनौती का सामना किया है’ नौसेना प्रमुख ने पाकिस्तान का नाम लिए हुए बिना कहा, ‘आतंकवादियों को एक ऐसे देश से सक्रिय मदद मिल रही है जो भारत को अस्थिर करना चाहता है’ उनके मुताबिक, ‘भारत ही नहीं पूरा एशिया-प्रशांत क्षेत्र आतंकवाद का सामना कर रहा है और इस क्षेत्र में आतंकवाद कई स्वरूपों में है और इसका मुकाबला आज की सबसे बड़ी ज़रूरत है.
इस बीच पाकिस्तान नौसेना ने दावा किया कि उसने एक भारतीय पनडुब्बी को अपनी सीमा में घुसने से रोका है. पाक ने स्थानीय मीडिया में एक फोटो भी जारी की, जिसे वह वास्तविक बता रहे हैं, उसका दावा है कि तस्वीर 4 मार्च को रात साढ़े आठ बजे की है.

हालाँकि रक्षा मामलों के जानकारों का मानना है कि पाकिस्तान इस तरह के मुद्दे बना कर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का आतंकवाद के मुद्दे से ध्यान हटाना चाहता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here