रुड़की : 12 पार्षदों संग मेयर गौरव ने की ‘घर वापसी’

  • आज रविवार को दून में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने सभी निर्दलीय पार्षदों को दिलाई पार्टी की सदस्यता

रुड़की। मेयर गौरव गोयल आज रविवार को 12 निर्दलीय पार्षदों के साथ भाजपा में वापसी कर ही ली। भाजपा से टिकट न मिलने पर बागी बने गौरव ने निर्दलीय के रूप में निकाय चुनाव में जीत का परचम फहराया था। हालांकि उसके बाद से ही उनकी वापसी के कयास लगाए जा रहे थे, जो अब जाकर सच साबित हुए हैं।
आज रविवार को दून में सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत सभी निर्दलीय पार्षदों को पार्टी की सदस्यता दिलाई। प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू को गोयल की घर वापसी का सूत्रधार माना जा रहा है। गौरतलब है कि रुड़की नगर निगम के मेयर और 40 पार्षदों का चुनाव 22 नवंबर 2019 को हुआ था। भाजपा से टिकट न मिलने पर निर्दलीय के रूप में मैदान में उतरने वाले गौरव गोयल जीत का परचम फहराते हुए मेयर बने थे। जबकि कांग्रेस प्रत्याशी रीशू राणा दूसरे और भाजपा प्रत्याशी मयंक गुप्ता तीसरे स्थान पर रहे थे। इसके बाद से ही मेयर गौरव के के भाजपा में वापसी करने के कयास लगाए जा रहे थे। कई बार उनको मंत्री और भाजपा नेताओं के साथ मंच साझा करते भी देखा गया था। बीते शनिवार को इस पर मुहर लग गई थी।
भाजपा में जिला महामंत्री समेत कई पदों पर रह चुके गौरव गोयल लंबे समय से मेयर का चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन पिछले साल हुए चुनाव में पार्टी ने उनकी दावेदारी को नकार कर वरिष्ठ नेता मयंक गुप्ता को टिकट दिया था। समीकरण ऐसे बने कि गौरव गोयल निर्दलीय चुनाव जीत गए। उस दौरान पार्टी से उन्हें निष्कासित कर दिया था। इस बाबत मेयर गौरव गोयल का कहना है कि मैं शुरू से ही भाजपा की विचारधारा का कार्यकर्ता हूं। सदैव मैंने भाजपा और संघ की नीतियों का प्रचार-प्रसार किया। कुछ परिस्थितियां ऐसी बन गई थीं कि मुझे निर्दलीय चुनाव लड़ना पड़ा। जनता ने भी मुझे भाजपा का असली प्रत्याशी मानकर चुनाव जिताया है। दोबारा अपने घर में लौटा हूं, बहुत प्रसन्न हूं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here