‘अफेयर’ छिपाने को किया रोहित का कत्ल!

रोहित मर्डर में नया मोड़

  • अपूर्वा तिवारी के समर्थन में आगे आये उसके मायके वालों ने लगाया आरोप 
  • कहा, अपूर्वा बेकसूर और उसे साजिश के तहत फंसा रहे ससुराल वाले
  • इस मामले में अपनी राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल कर रहे हैं रोहित के घरवाले 

नई दिल्ली। नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी के हत्याकांड में अब एक नया मोड़ आ गया है। अब रोहित की हत्या की आरोपी अपूर्वा के घर वाले उसके समर्थन में सामने आए हैं। उनका कहना है कि अपूर्वा बेकसूर है और उसे ससुराल पक्ष द्वारा फंसाया जा रहा है। रोहित के घरवाले अपनी राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग उठाई। उनहोंने आरोप लगाया की अफेयर छिपाने के लिए रोहित का कतल किया गया है।
गौरतलब है कि रोहित की 15 अप्रैल की रात अचानक मौत हो गई थी। हफ्ते भर चली जांच के बाद पुलिस ने उनकी पत्नी अपूर्वा को गिरफ्तार कर लिया था। अब अपूर्वा की मां मंजूला ने आरोप लगाया है कि ससुराल पक्ष के लोगों ने घर में काम करने वालों को प्रॉपर्टी का लालच लेकर अपनी तरफ कर लिया है। मंजूला ने कहा, ‘सबने मिलकर मेरी बेटी के खिलाफ साजिश रचकर उसे जेल भेजा क्योंकि अगर वह बाहर रहती तो असली गुनाहगार नहीं बच पाता।’
वहीं अपूर्वा के भाई ने कहा कि रोहित के घर पर काम करने वाले एक शख्स की गतिविधियां संदिग्ध पाई गई थीं, फिर भी उसे क्लीन चिट क्यों दी गई। उस शख्स को रोज रोहित को सुबह नौ से 10 के बीच जगाने की जिम्मेदारी दी गई थी लेकिन उस दिन वह रोहित को शाम 4.30 तक उठाने नहीं गया था। फिर अपूर्वा के कहने पर ही वह रोहित के कमरे में गया।
मंजुला ने बताया कि उन्हें रोहित की शारीरिक समस्याओं के बारे में शादी से पहले नहीं बताया गया था। उन्हें बाद में पता चला कि रोहित डिप्रेशन आदि की काफी दवाएं खाता था। वह बोलीं, ‘शादी के बाद मेरी बेटी को रोहित काफी परेशान दिखता था। सोते वक्त भी उसकी बेचैनी दिखती थी। उसे सख्त हिदायत थी कि सोते वक्त रोहित को उठाया न जाए।’
अब अपूर्वा के मायके वालों ने सीबीआई के साथ-साथ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग और राष्ट्रीय महिला आयोग से जांच की मांग उठाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here