यू-विन पोर्टल का गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों को मिलेगा लाभ, मिलेंगी ये सुविधाएं…

नई दिल्ली। कोरोना महामारी और वैक्सीनेशन ड्राइव के दौरान कोविन पोर्टल काफी चर्च हुआ था। इस वेबसाइट और ऐप के जरिए वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन, स्लॉट बुकिंग और साथ ही वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट भी डाउनलोड किया जा सकता है। ये कोविन पोर्टल काफी सफल हुआ था। ऐसे में अब इसी की तर्ज पर ही सरकार यूविन पोर्टल बनाने जा रही है।

यू-विन कार्यक्रम को यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम (यूआईपी) को डिजिटल बनाने के लिए डिजाइन किया गया है और वर्तमान समय में सभी राज्यों के दो जिलों और केंद्रशासित प्रदेशों में पायलट मोड पर चलाया जा रहा है। इस प्लेटफॉर्म का उपयोग गर्भवती महिला को पंजीकृत करने और उसे टीकाकरण करने, उसके डिलीवरी परिणाम को रिकॉर्ड करने, नवजात शिशु के जन्म को पंजीकृत करने, जन्म खुराक देने और उसके टीकाकरण कार्यक्रमों के लिए किया जाएगा।

स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारी और कर्यक्रम मैनेजर वैक्सीन वितरण करने, नियमित टीकाकरण सत्र और टीकाकरण कवरेज के लिए उपलब्ध रहेंगे। गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए एबीएचए आईडी(आयुष्मान भारत हीथ खाता) से जुड़ा टीकाकरण कार्ड तैयार किया जाएगा। इसके अलावा नागरिक आस-पास चल रहे नियमित टीकाकरण सत्रों की जांच और अपॉइंटमेंट भी बुक कर सकते हैं।

यू-विन को 11 जनवरी को 65 जिलों में लॉन्च किया गया था। यूआईपी के तहत टीकाकरण रिकॉर्ड को अबतक मैन्युअल तरीके से ही रखा जा रहा है। सबसे बड़ा मुद्दा यह है कि निजी स्वास्थ्य सुविधाओं पर टीकाकरण दर्ज नहीं किया जाता है। अबतक 0-1 साल की उम्र के 33,58,770 शिशुओं और 1-5 साल की उम्र के 20,98,338 बच्चों का पंजीकरण किया गया है। साथ ही 14,20,708 गर्भवती महिलाओं का भी पंजीकरण हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here