उत्तराखंड में पंचायती राज विभाग के प्रयासों को मोदी सरकार ने सराहा

  • केन्द्रीय पंचायतीराज सचिव ने की स्वामित्व व अन्य योजनाओं की समीक्षा

देहरादून। आज गुरूवार को सचिवालय परिसर में केंद्रीय पंचायतीराज मत्रांलय के सचिव सुनील कुमार एवं संयुक्त सचिव एपी नागर द्वारा पंचायतीराज विभाग, उत्तराखण्ड की विभागीय समीक्षा बैठक की गयी। उन्होंने पंचायतीराज विभाग, उत्तराखण्ड की प्रगति के प्रस्तुतिकरण को देखते हुए विभाग के प्रयासों को सराहनीय बताया।
केन्द्रीय पंचायती राज सचिव ने सर्वेयर जनरल ऑफ इण्डिया के साथ स्वामित्व योजना पर चर्चा करने के साथ ही मुख्य सचिव श्री ओम प्रकाश के साथ विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। मुख्य सचिव के साथ वार्ता उपरान्त सर्वे ऑफ इण्डिया के कार्यालय में सर्वे ऑफ इण्डिया, राजस्व परिषद तथा पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों के साथ स्वामित्व योजना की प्रगति तथा वर्ष 2022 तक लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु कार्ययोजना की समीक्षा की गयी।
अपरान्ह् में केंद्रीय सचिव एवं संयुक्त सचिव, पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायतों के पंचायत प्रतिनिधियों की क्षमता वृद्धि हेतु पंचायतीराज विभाग, उत्तराखण्ड द्वारा तैयार की गयी हस्तपुस्तिकाओं का विमोचन किया गया और साथ ही विभागीय वेबसाईट पर अपलाडेड ई-पुस्तिकाओं एवं ऑडियो विजुअल ट्रेनिंग मॉड्यूल की भी प्रशंसा की गयी।
बैठक के दौरान डॉ. मनोज पंत, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सेंटर फॉर पब्लिक प्लानिंग एण्ड गुड गवर्नेंस ने नियोजन एवं पंचायतीराज विभाग के मध्य समझौता ज्ञापन पत्र के विषय में प्रकाश डाला। वहीं स्थानिक नियोजन विषय पर आईआईटी रूड़की के एसोसियेट प्रोफेसर डॉ. उत्तम कुमार द्वारा प्रस्तुतिकरण दिया गया। तत्पशचात् ई-पंचायत सेवा केन्द्र, राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान, केन्द्रीय वित्त आयोग के साथ-साथ पंचायतीराज विभाग में हैल्प डैस्क प्रणाली, पंचायतों में ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, स्वामित्व आदि विशयों पर सम्बन्धित विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रस्तुतिकरण दिये गये। बैठक में सचिवालय, निदेशालय एवं जनपदों के अधिकारीगण तथा पंचायतों के प्रतिनिधि के रूप में जिला पंचायत अध्यक्ष मधु चौहान, क्षेत्र पंचायत देवाल, चमेली के प्रमुख दर्शन सिंह दानू, क्षेत्र पंचायत कालसी, देहरादून से मठोर सिंह तथा प्रधान क्रमशः पिंकी देवी, तबस्सुम, संगीता पंवार, नीलम नेगी, बलवन्त सिंह, प्रीतम राणा एवं आमिर खान एवं जिला पंचायत क्षेत्र पंचायत एवं ग्राम पंचायत के कुछ सदस्यगण भी उपस्थित रहे। उक्त बैठक के उपरान्त सचिव सुनील कुमार एवं संयुक्त सचिव एपी नागर द्वारा पंचायतीराज निदेशालय जाकर Smart and Eco Friendly office के रूप में परिवर्तित निदेशालय भवन तथा विभाग में नवस्थापित हैल्प डैस्क प्रणाली का निरीक्षण किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here