देहरादून। देवभूमि विकास संस्थान के संरक्षक एवं पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस के दिन 1 अक्टूबर को एक मेगा रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। रेसकोर्स स्थित अमरीक हाल में शिविर सुबह नौ बजे से सांय पांच बजे तक चलेगा।

उन्होंने प्रेस कल्ब में मीडिया से बातचीत में कहा कि डेंगू महामारी के कारण चिकित्सालयों में रक्त की पूर्ति के लिए यह मेगा रक्तदान शिविर आयोजित किया जा रहा है। शिविर में 700 से अधिक यूनिट रक्त का संग्रह किया जाएगा। पांच अस्पतालों के सहयोग से यह शिविर आयोजित जा रहा है। यह रक्त इन चिकित्सालयों को उपलब्ध किया जायेगा। इस अवसर पर प्रदेश के राज्यपाल सेनि ले. जनरल गुरमीत सिंह मुख्य अतिथि एवं प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डा धनसिंह रावत विशिष्ट अतिथि होंगें।
उन्होंने कहा कि देवभूमि विकास संस्थान संगठन है, जिसको मुख्यमंत्री के बनने के बाद इसका प्रयोग नहीं किया गया ताकि इसका कोई राजनीतिक इस्तमाल न हो। उन्होंने कहा कि रिस्पना नदी की सफाई अभियान इस संस्थान के माध्यम से चलाया गया था। रिस्पना नदी को साफ रखने के लिए कई टन पॉलिथीन को हाल ही में उठाया भी गया है। संगठन के माध्यम से कोरोना काल में दो हजार से ज्यादा यूनिट डोनेट किया गया और डेंगू के समय में भी संगठन ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

पूर्व सीएम ने कहा कि 31 अगस्त को संगठन के लोगों की मीटिंग बुलाई जिसके बाद डेंगू से लड़ने के लिए तीन सितंबर को पहला बड़ा रक्तदान शिविर लगाया गया। इसमें 204 लोगों ने रक्तदान किया। एक अक्टूबर को होने वाले रक्तदान शिविर में अभी तक 1000 हजार से ज्यादा लोगों की सूची बन चुकी है। ऐसे में उम्मीद है कि 700 से ज्यादा लोग रक्तदान करेंगे।
चिंता जताते हुए त्रिवेंद्र ने कहा है कि पहाड़ी क्षेत्र में भी इस बार डेंगू की चपेट में आ चुका है। जनपद चमोली इससे अछूता नहीं है। उन्होंने कहा कि अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में सभी सस्थाओं के साथ मिलकर रक्तदान कैंप लगाया जायेगा। संस्था बिना किसी सरकारी सहायता के समाज के जागरूक और सेवाभावी जनमानस के सहयोग से पर्यावरण संरक्षण, स्वास्थ्य व संस्कृति के प्रति जागरूकता के लिए निरंतर गत 16 सालों से पूरी सेवा भाव से सामाजिक सरोकारों से जुड़े मुद्दों पर कार्य कर रही है।

उन्होंने कहा कि पर्यावरण जल संरक्षण व रक्तदान शिविरों के माध्यम से जरूरतमंद लोगों के सहायता के लिए स्वयं व समाज को प्रेरित करते रहते हैं। कोरोनोकाल में जरूरतमंद लोगों के लिए रक्त की पूर्ति के लिए कोरोना प्रोटोकाल के अंतर्गत रक्तदान शिविरों का आयोजन किया।

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र ने कहा कि संस्थान ने वर्तमान में डेंगू महामारी के कारण चिकित्सालयों में रक्त की पूर्ति और युवाओं में रक्तदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों व सामाजिक संस्थाओं के माध्यम से अभी तक 1100 से अधिक यूनिट रक्त विभिन्न चिकित्सालयों को उपलब्ध कराया गया। इस अवसर पर संस्थान के महासचिव सत्येन्द्र सिंह नेगी, राजेश रावत आदि शामिल रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here