उत्तराखंड : गैरबारम प्रधान की 11 वर्षीया बेटी को गुलदार ने बनाया निवाला!

पहाड़ की विडंबना

  • नारायणबगड़ विकासखंड के गैरबारम गांव में सरेशाम आदमखोर गुलदार ने दिया वारदात को अंजाम
  • पूरे क्षेत्र में गुलदार को लेकर छाया जबरदस्त आतंक, लोगों में वन विभाग के खिलाफ भारी रोष

थराली से हरेंद्र बिष्ट।
नारायणबगड़ विकासखंड के गैरबारम गांव में गुलदार ने गांव की ग्राम प्रधान की 11 वर्षीया बेटी को अपना निवाला बना लिया। जिसके बाद जहां पूरे क्षेत्र में आदमखोर गुलदार को लेकर जबरदस्त आतंक छा गया है। इसके साथ ही वन विभाग के खिलाफ भारी रोष  व्याप्त है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बीत सोमवार की शाम करीब 7 बजे पश्चिमी पिंडर रेंज नारायणबगड़ के अंतर्गत गैरबारम गांव में एक गुलदार गौशाला के पास खेत में खेल रही ग्राम प्रधान मधु देवी की बेटी दृष्टिका पर हमला कर उसे उठाकर जंगल में ले गया। घटना की जानकारी होते ही गांव में कोहराम मच गया। इसके बाद ग्रामीण बच्ची को खोजने निकले तो उन्हें लड़की का अधखाया शव मिला! इसकी सूचना तत्काल वन विभाग व प्रशासन को दी गई। पिछले माह ही गैरबारम के निकटवर्ती गांव मलतुरा गांव में गुलदार द्वारा एक बच्चे को निवाला बनाने की घटना को क्षेत्रीय जनता भूल भी नहीं पायी थी कि अब गुलदार द्वारा बालिका को अपना शिकार बनाने के बाद गांव के साथ ही पूरे क्षेत्र में दहशत बनी हुई हैं। इसके साथ ही क्षेत्रीय जनता में वन विभाग के खिलाफ रोष व्याप्त हैं कि पिछली घटना के बाद भी विभाग ने सतर्कता नहीं बरती।
इस संबंध में पूछे जाने पर पश्चिमी पिंडर रेंज नारायणबगड़ के वन क्षेत्राधिकारी जुगल किशोर चौहान ने बताया कि गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने की कार्रवाई की जा रही हैं। जबकि पीड़ित परिवार को तत्काल आर्थिक राहत देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई हैं। इस घटना के बाद थराली के उप जिलाधिकारी केएस नेगी ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। घटना की जानकारी मिलते ही थराली की विधायक मुन्नी देवी शाह भी आज मंगलवार को गैरबारम गांव पहुंची। जहां पर उन्होंने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी और गुलदार को आदमखोर घोषित कर मारने का आश्वासन दिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here