उत्तरकाशी और चमोली में गुलदार हुए आदमखोर!

स्थानीय लोगों का जीना हुआ दुश्वार

  • विकासखंड पुरोला के रामा और बेस्टी गांव के पास दो घटनाओं में गुलदार के हमले में दो युवकों की हालत गंभीर
  • चमोली के एक गांव में आंगन में खेल रहे था चार साल के बच्चे को उठा ले गया गुलदार, जंगल में मिला शव

उत्तरकाशी/चमोली। उत्तरकाशी और चमोली जिले में आदमखोर गुलदारों ने आतंक मचाया हुआ है। आज शुक्रवार को विकासखंड पुरोला के रामा और बेस्टी गांव के पास दो अलग-अलग घटनाओं में गुलदार ने हमला कर दो युवकों को घायल कर दिया। वन विभाग ने गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। उधर गुरुवार रात चमोली के भ्याड़ी गांव के मजेटी तोक में गुलदार चार साल के एक बच्चे को उठा ले गया। रात भर ग्रामीणों ने बच्चे की खोजबीन की, लेकिन कहीं भी नहीं मिल सका। आज शुक्रवार सुबह घटनास्थल से करीब 400 मीटर दूर जंगल में बच्चे का सिर बरामद हो पाया। बच्चे के धड़ को गुलदार खा गया था। घटना के बाद से क्षेत्र में दहशत बनी है।
शुक्रवार सुबह करीब दस बजे पुरोला विकासखंड के रामा गांव निवासी लोकेश बिष्ट (28) पुत्र मोहन सिंह गांव के पास पंताल तोक में अपने खेत में हल लगा रहा था। अचानक गुलदार ने उस पर हमला कर दिया। आसपास मौजूद लोगों के शोर मचाने पर गुलदार भाग गया। हमले में युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। कुछ ही देर बाद एक गुलदार ने पास के बेस्टी गांव में गाय चराने जंगल में गए अरविंद (21) पुत्र शूरवीर लाल पर हमला कर उसे घायल कर दिया। ग्रामीणों की मदद से दोनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पुरोला पहुंचाया गया। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डा. पंकज ने बताया कि अरविंद को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया है। जबकि लोकेश को गंभीर चोटें आने से हायर सेंटर रेफर किया गया है।
टौंस वन प्रभाग के एसडीओ रविंद्र श्रीवास्तव ने बताया कि क्षेत्र में गुलदार के हमले की शिकायत मिलते ही घटना स्थल पर वन विभाग की टीम को भेजा गया है। गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया जा रहा है।
उधर चमोली जिले के नायब तहसीलदार सुरेंद्र सिंह देव ने बताया कि गुरुवार रात करीब 7.30 बजे नेपाली मूल के प्रेम बहादुर का चार वर्षीय पुत्र रमेश जैसे ही घर के बाहर आंगन में आया तो वहां पहले से ही घात लगाकर बैठे गुलदार ने उस दबोच लिया और जंगल में भाग गया। शोरगुल सुनकर आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और बच्चे की खोजबीन में जुट गए। सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे। आज शुक्रवार सुबह घटनास्थल से 400 मीटर दूर बच्चे का सिर बरामद हुआ। बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
वन क्षेत्राधिकारी बीएस परमार ने कि कहा कि बच्चे के परिजनों को तत्काल कुछ राशि देकर मुआवजे के लिए कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में वनकर्मियों की गश्त बढ़ाकर पिंजरा लगाने की कार्रवाई की जा रही है। ग्राम पंचायत त्यूला के प्रधान नंदन सिंह रमोला ने बताया कि क्षेत्र में गुलदार का आतंक काफी समय से था। अब तक वह कई पालतू पशुओं को अपना निवाला बना चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here