कविंदर बिष्ट एशियाई मुक्केबाजी चैंपियनशिप के फाइनल में

कविंदर सिंह बिष्ट (56 किग्रा वर्ग) ने जोरदार प्रदर्शन करते हुए तीन अन्य भारतीय मुक्केबाजों के साथ गुरूवार को बैंकाक में हो रही एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के फाइनल में प्रवेश कर लिया। दीपक सिंह (49 किग्रा वर्ग) और आशीष कुमार (75 किग्रा वर्ग) भी पुरूष फाइनल में शामिल हो गये जबकि पूजा रानी (75 किग्रा वर्ग) ने महिलओं के ड्रा में से जगह बनायी है। वहीँ अनुभवी मुक्केबाज एल सरिता देवी (60 किग्रा वर्ग) और पिछले चरण की रजत पदकधारी मनीषा (54 किग्रा वर्ग) को कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।
कविंदर बिष्ट ने क्वार्टरफाइनल में मौजूदा विश्व चैम्पियन कजाखस्तान के काईरात येरालिएव को पराजित किया था। इसके बाद सेमीफइनल में उन्होंने मंगोलिया के एंख-अमर खाखु को पराजित किया, जिनकी आंख में दूसरे दौर में चोट लग गयी थी। लेकिन मंगोलियाई मुक्केबाज ने भी मुकाबले में कविंदर बिष्ट की आंख चोटिल कर दी। पर कविंदर इस मुकाबले में जीत हासिल करने में सफल रहे।
दीपक सिंह को लगातार दूसरा वाकओवर मिला। कजाखस्तान के तेमिरतास झुसुपोव ने चोट के कारण हटने का फैसला किया जिससे राष्ट्रीय चैम्पियन सीधे फाइनल में पहुंच गया।
आशीष कुमार ने ईरान के सेयेदशाहिन मौसावी को अपने तेज तर्रार मुक्कों से वापसी का कोई मौका नहीं दिया और फाइनल में प्रवेश किया। महिलाओं में मनीषा ताईवान की हुआंग सियाओ वेन से हार गयी जबकि सरिता को चीन की यांग वेनलू से पराजय मिली। पूजा ने कजाखस्तान की फरीजा शोलटे पर जीत हासिल की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here