नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 77वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से बोलते हुए कहा कि वह 2024 में सत्ता में लौटेंगे और देश की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से बताएंगे। पीएम मोदी ने कहा कि अगले पांच साल अभूतपूर्व विकास के लिए हैं। 2047 के सपने को साकार करने का सबसे बड़ा स्वर्णिम क्षण अगले पांच साल हैं। अगली बार, 15 अगस्त को, मैं इस लाल किले से देश की उपलब्धियों और विकास को आपके सामने रखूंगा।

पीएम मोदी ने अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण की शुरुआत ‘मेरे प्यारे 140 करोड़ परिवार के सदस्यों’ से की। प्रधानमंत्री ने लोगों से भ्रष्टाचार, भाई-भतीजावाद और तुष्टिकरण से छुटकारा पाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण की राजनीति ने देश को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि वंशवादी राजनीति में विश्वास करने वाले राजनीतिक दलों का एक ही मंत्र है – परिवार की पार्टी, परिवार द्वारा और परिवार के लिए.उन्होंने कहा कि मेरा दृढ़ विश्वास है कि जब देश 2047 में आजादी के 100 साल मनाएगा, तो देश एक विकसित भारत होगा। मैं यह बात अपने देश की क्षमता और उपलब्ध संसाधनों के आधार पर कहता हूं. उन्होंने कहा कि समय की मांग है कि इन तीन बुराइयों से हमें लड़ना होगा- भ्रष्टाचार, वंशवाद और तुष्टीकरण।

पीएम मोदी ने देश के विपक्षी दलों को घेरते हुए कहा, कहा,”तुष्टीकरण ने सामाजिक न्याय का नुकसान किया है। यह विकास का सबसे बड़ा दुश्मन है। हम किसी भी हालत में भ्रष्टाचार को सहन नहीं करेंगे। मेरे परिवारजनों का बहुत बड़ा दायित्व है। हमारी आने वाली पीढ़ियों को ऐसी जिंदगी जीने के लिए मजबूर करना गुनाह है। उन्होंने कहा, भ्रष्टाचार और परिवारवाद ने देश को जकड़ कर रखा है। परिवारवादी पार्टियां का जीवन मंत्र ही यही है कि उनका राजनीतिक दल परिवार का, परिवार के द्वारा और परिवार के लिए है। ये सामर्थ्य को स्वीकार नहीं करते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here