मत करो दूषित देवभूमि की आवोहवा

  • गंगा जल हाथ में लेकर नशा न करने की खिलाई कसम
  • धर्मनगरी हरिद्वार बनता जा रहा है नशे का अड्डा
  • पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार कर कोर्ट में किया पेश

हरिद्वार। उत्तराखंड की पहचान देश और दुनिया में देवभूमि के नाम से है। हर कोई यहां आस्था लेकर आता है। मां गंगा के जल का आचमन कर पुण्य का भागीदार बनाना चाहता है। भगवान के दर पर माथा टेक कर मनोनियां मांगता है। लेकिन कुछ सिरफिरे अपने राज्य और परिजनों का नाम तो गंदा कर ही रहे हैं। लेकिन देवभूमि की आवोहवा भी दूषित कर रहे हैं। आए दिन गंगा किनारे नशा करते हुए कई श्रद्धालु पकड़े जा रहे हैं। उनमें कुछ स्थानीय लोग भी हैं। शनिवार की रात मादक पदार्थों का सेवन कर हरकी पैड़ी क्षेत्र में हुड़दंग मचा रहे श्रीगंगा सभा के दो कर्मचारियों समेत नौ लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्हें न्यायालय में पेश किया गया। पुलिस ने हाथ में गंगाजल देकर गंगा किनारे नशा न करने की शपथ भी दिलवाई। कोरोना काल की दूसरी लहर के बाद अनलॉक हुई धर्मनगरी में रोजाना यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में हरकी पैड़ी क्षेत्र में युवक मादक पदार्थों का सेवन कर रोजाना हुड़दंग मचा रहे हैं। पुलिस ने दीपक व प्रवीण निवासी जग सीना जिला करनाल हरियाणा, राकेश कुमार निवासी मौसम गढ़ व राहुल कुमार निवासी सलेमपुर बुलंदशहर उत्तर प्रदेश, विकास व अरविंद कुमार निवासी ग्राम विधाना कैथल हरियाणा, जगदंबा प्रसाद थपलियाल व रितिक रस्तोगी कर्मचारी श्री गंगा सभा हरिद्वार और कृष्ण निवासी कैथल हरियाणा को पकड़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here