नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने मंगलवार को कई एंड्रॉइड और आईओएस यूजर्स को एक सैंपल मैसेज भेजकर ‘इमरजेंसी अलर्ट सिस्टम’ (Emergency Alert System) का टेस्ट किया।

फ्लैश मैसेज में लिखा था, “‘यह मैसेज भारत के दूरसंचार विभाग द्वारा सेल ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम के माध्यम से भेजा गया एक सैंपल टेस्टिंग मैसेज है। कृपया इस मैसेज पर ध्यान न दें क्योंकि इस पर आपकी ओर से किसी कार्रवाई की आवश्यकता नहीं है। यह मैसेज राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा कार्यान्वित किए जा रहे अखिल भारतीय इमरजेंसी अलर्ट सिस्टम को जांचने के लिए भेजा गया है। इस सिस्टम का उद्देश्य सार्वजनिक सुरक्षा बढ़ाना और आपात स्थिति के दौरान समय पर अलर्ट प्रदान करना है।

Govt of India Emergency Alert : क्या आपके पास भी आया भारत सरकार का 'इमरजेंसी  अलर्ट' मैसेज, जानें वजह, government-of-india-emergency-alert-emergency-alert -sent-to-everyone-by-the-government-of-india

इसे दूरसंचार विभाग द्वारा सेल ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम के माध्यम से सभी एंड्रॉइड और आईओएस फोन पर सुबह 11:30 बजे भेजा गया था। अपने स्मार्टफोन पर अलर्ट प्राप्त करने के बाद, कई यूजर्स ने एक्स पर अपनी राय साझा की. एक यूजर ने लिखा, “क्या किसी और को यह मिला है? यह ‘इमरजेंसी अलर्ट सिस्टम’ जीवन बचाने में काफी मददगार हो सकता है। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की शानदार पहल।

सेल ब्रॉडकास्टिंग सिस्टम के अनुसार, मोबाइल ऑपरेटरों और सेल ब्रॉडकास्ट सिस्टम की इमरजेंसी वार्निंग ब्रॉडकास्ट कैपेबिलिटी की दक्षता और प्रभावशीलता का आकलन करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में नियमित आधार पर ऐसे टेस्ट किए जाएंगे।

सरकार भूकंप, सुनामी और आकस्मिक बाढ़ जैसी आपदाओं से निपटने में तैयारियों में सुधार के लिए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ काम कर रही है। देश भर में मोबाइल यूजर्स को जुलाई, अगस्त और सितंबर में इसी तरह के टेस्ट अलर्ट प्राप्त हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here