दून विवि में सभी रिक्त पदों को छह माह में भरें : डॉ. धन सिंह

देहरादून। सहकारिता, उच्च शिक्षा, दुग्ध विकास एवं प्रोटोकाॅल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने आज बुधवार को विधानसभा स्थित कार्यालय में दून विश्वविद्यालय की समीक्षा की।
बैठक में उन्होंने दून विवि को नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) की राष्ट्रीय रैंकिंग में लाने के लिए तैयारियों में जुट जाने को अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि विवि में एनआईआरएफ के मानकों को सख्ती से लागू किया जाय, इसके लिए जो भी संसाधनों की आवश्यकता होगी राज्य सरकार मुहैया करायेगी। डाॅ. रावत ने कहा कि विवि में अभी से एनआईआरएफ रैंकिंग के लिए निर्धारित मानकों शिक्षण, शिक्षा और संसाधन’, ‘अनुसंधान और व्यावसायिक व्यवहार’, ‘स्नातक परिणाम’, ‘आउटरीच और समाशोधन’ और ‘अनुभूति’ पर अभी से फोकस किया जाये। ताकि एक साल के भीतर दून विश्वविद्यालय राष्ट्रीय रैंकिंग के लिए पूरी तरह से तैयार हो सके।
समीक्षा बैठक में उच्च शिक्षा मंत्री ने विश्वविद्यालय में शिक्षकों एवं शिक्षणेतर कर्मियों के रिक्त पदों को भरे जाने के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि विश्वविद्यालय में शिक्षकों के 101 पद स्वीकृत है जिन में से 39 पद ही भरे गये हैं। शेष 62 पदों को भरे जाने के लिए आवेदन मांगे जा चुके हैं। जबकि शिक्षणेतर कर्मियों के 76 पद स्वीकृत हैं, जिनको भरे जाने की कार्यवाही की जा रही है। जिस पर उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि सभी रिक्त पदों को छह महीने के भीतर भर दिया जाय।
बैठक में कुलपति डाॅ. एके कर्नाटक ने बताया कि रूसा एवं राज्य सरकार द्वारा पिछले वित्तीय वर्षों में विश्वविद्यालय को विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए लगभग 77 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की है। जिनमें से 50 फीसद धनराशि खर्च की जा चुकी है। जिस पर उच्च शिक्षा मंत्री ने विश्वविद्यालय प्रशासन को निर्माण कार्य में तेजी लाने के साथ ही कुलपति, कुलसचिव, वित्त नियंत्रक आवास एवं अति विशिष्त अतिथि गृह के निर्माण हेतु प्रस्ताव देने के निर्देश दिये। बैठक में  संयुक्त सचिव उच्च शिक्षा एमएम सेमवाल, कुलसचिव मंगल सिंह मंद्रवाल, वित्त नियंत्रक डीसी लोहानी, सुधीर बुडाकोटी, अनुभाग अधिकारी मयंक बिष्ट सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here