दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अकेले चुनाव लड़ेंगे

दिल्ली : पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित ने आज इस बात की घोषणा करते हुए कहा की कांग्रेस और आम आदमी पार्टी आने वाले लोकसभा चुनावों में गठबंधन नहीं करेगी. कांग्रेस अब अकेले ही दिल्ली के सभी 7 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी उन्होंने दिल्ली कांग्रेस के पदाधिकारिओं के साथ हुई बैठक के बाद सबकी सहमति से यह फैसला लिए जाने की बात कही.
इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने सभी नेताओं और पदाधिकारियों की बैठक बुलाई जिसमे दोनों पार्टियों के बीच सीट बंटवारे के लिए कुल 7 सीटों पर 3 -3 -1 के फॉर्मूले पर विचार किया गया था. इस फॉर्मूले के तहत कांग्रेस और आम आदमी पार्टी दिल्ली की कुल 7 लोकसभा सीटों में से 3-3 सीटों पर अलग-अलग चुनाव लड़ती और 1 सीट पर दोनों दलों के संयुक्त उम्मीदवार को उतारा जाना था.
कांग्रेस के गठबंधन नहीं करने के ऐलान के बाद आम आदमी पार्टी ने मंगलवार शाम को प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है समझा जा रहा है कि आप अब दिल्ली में गठबंधन की संभावनाओं को दरकिनार कर अकेले ही चुनाव में जाने को लेकर ऐलान कर सकती है.बता दें कि पिछले हफ्ते ही आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान करते हुए सात में से छह पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी थी. हालांकि इसके बाद भी यह कयास लगाए जाते रहे कि कांग्रेस और आप का यहां चुनावी तालमेल हो जाएगा.गौरतलब है कि इससे पहले भी उत्तरप्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन के साथ कांग्रेस का चुनावी तालमेल नहीं हो पाया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here