देहरादून। राजधानी देहरादून के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल दून मेडिकल कॉलेज से एक युवती की उपचार के दौरान तबियत बिगड़ने के चलते मौत हो गई। युवती के परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर बवाल काटा।

जानकारी के मुताबिक जौनसार की रहने वाली 18 साल की निशा की मंगलवार को अचानक तबीयत ज्यादा खराब हो गई थी। परिजन निशा को लेकर विकासनगर पहुंचे और वहां डॉक्टर को दिखाया, लेकिन डॉक्टर ने निशा की गंभीर हालत को देखते हुए उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया। परिजन निशा को लेकर सीधे दून हॉस्पिटल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे इमरजेंसी में भर्ती किया।

बताया जा रहा है कि इलाज के दौरान निशा की मौत हो गई। निशा की मौत के बाद परिजनों ने काफी हंगामा किया। निशा के परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने उसे गलत इंजेक्शन लगाया था, जिससे उनकी बेटी की मौत हो गई। परिजनों ने ड्यूटी में तैनात डॉक्टर को बर्खास्त करने की मांग उठाई है। वहीं, युवती की मौत के बाद बड़ी संख्या में क्षेत्र के लोग अस्पताल में इकट्ठा हो गए और जमकर हंगामा किया। फिलहाल पुलिस स्थिति को संभालने में जुटी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here