• 19 जून को उत्तराखंड की निधि बिष्ट बनेगी फ्लाइंग ऑफिसर

देहरादून। पहाड़ की परी जल्द ही आसमान में फुर्र उड़ेगी। शाबाश ! निधि हमें आप पर गर्व है। यहां बात हो रही है पौड़ी गढ़वाल के अस्वालस्यूं क्षेत्र महड़ गांव में जन्मी निधि बिष्ट की। दून में पली निधि वायु सेना (एयर फोर्स) में उड़ान भरने को तैयार हैं। 19 जून को वह हैदराबाद स्थित एयर फोर्स एकेडमी से पासआउट होकर फ्लाइंग आफिसर बनेंगी। साधारण परिवार में जन्मी निधि का सपना वैसे सिविल सेवा था। वह सिविल सेवा में जाकर देश की सेवा करना चाहती थी। लेकिन, सेना के जांबाज वीरों की गाथा सुनकर वह एयर फोर्स में जाने के लिए प्रेरित हुई। अनंतः वह एयर
फोर्स का अंग होने जा रहीं हैं। हालांकि वन अनुसंधान संस्थान (एफआरआइ) से स्नातकोत्तर व पीएचडी करने वाली निधि के पास वानिकी अनुसंधान के रूप में करियर बनाने का सुनहरा अवसर था। दूसरा अवसर उनके पास सिविल सेवा का था। लेकिन मन में देश सेवा का जज्बा था तो एयर फोर्स को चुना। निधि बिष्ट का जन्म वर्ष 1996 में पौड़ी के अस्वालस्यूं क्षेत्र महड़ गांव में हुआ। उनकी मां ऊषा बिष्ट गृहणी हैं और पिता अनिल बिष्ट प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं। छोटे भाई पीयूष बिष्ट का फास्ट फूड संबंधी कारोबार है। बचपन से ही पढ़ाई में होनहार निधि ने जब अपनी यह इच्छा परिवार के साथ साझा की तो उन्होंने हर बार की तरह यहां भी हौसला बढ़ाया। निधि आसानी से एयर फोर्स कामन एडमिशन टेस्ट (एफकैट) पास कर लिया और पिछले साल अगस्त माह में वह 11 माह के प्रशिक्षण के लिए हैदराबाद चली गईं। निधि की मां ऊषा बिष्ट ने कहा कि उन्हें अपनी बेटी पर गर्व है।
निधि का परिवार इस समय देहरादून के केदारपुरम में रहता है। उनकी प्रारंभिक शिक्षा श्रीनगर स्थित चैरास के सैंजो स्कूल में हुई। उन्होंने 12वीं की पढ़ाई देहरादून के डीएवी पब्लिक स्कूल से की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here