उत्तरकाशी।  इस वर्ष चारधाम यात्रा नित नए प्रतिमान गढ़ रही है। खासकर गंगोत्री-यमुनोत्री यात्रा की तस्वीर ही बदल गई है। गंगोत्री धाम पहुंचने वाले तीर्थ यात्रियों का आंकड़ा जहां तेजी से नौ लाख की ओर बढ़ रहा है, वहीं यमुनोत्री धाम में भी पहली बार सात लाख से अधिक तीर्थयात्री पहुंच चुके हैं। इससे तीर्थ पुरोहितों के साथ यात्रा से जुड़े व्यापारियों के चेहरे भी खिले हुए हैं। अभी दोनों धाम के कपाट बंद होने में 20 दिन का समय शेष है, लिहाजा तीर्थ यात्रियों की संख्या का और अधिक बढ़ना तय है।

22 अप्रैल को खोले गए थे धाम के कपाट…

इस बार गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट 22 अप्रैल को खोले गए थे। 25 अप्रैल को केदारनाथ और 27 अप्रैल को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने के बाद तो यात्रा सरपट दौड़ पड़ी। हालांकि, वर्षाकाल के दौरान हाईवे अवरुद्ध रहने से यात्रा बाधित हुई, लेकिन वर्षाकाल के बाद फिर तीर्थ यात्रियों की भीड़ उमड़ रही है। कोविड से पहले और वर्ष 2013 की आपदा के बाद वर्ष 2019 में अच्छी यात्रा चली। तब गंगोत्री धाम में 5.30 लाख और यमुनोत्री धाम में 4.66 लाख तीर्थ यात्रियों ने दर्शन किए। जबकि, वर्ष 2022 में 6.24 लाख तीर्थयात्री गंगोत्री और 4.85 लाख यमुनोत्री दर्शन को पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here