सरकार गहरी नींद में थी, हमारे जवानों ने इसकी कीमत चुकाई : राहुल

चीन पर तीन दिन में तीसरा बयान

  • गलवान में खूनी झड़प से पहले भी राहुल ने कहा था, सीमा विवाद पर स्थिति साफ करे सरकार
  • राहुल ने गुरुवार को सरकार से पूछा था- जवानों को बिना हथियार शहीद होने क्यों भेजा?
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के मुद्दे को लेकर आज बुलाई है सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली। भारत-चीन झड़प के मुद्दे पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने लगातार तीसरे दिन आज शुक्रवार को भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है। चीन के मुद्दे पर ऑल पार्टी मीटिंग से पहले राहुल ने तीन बातें कहीं…
1. गलवान में चीन का हमला सोची-समझी साजिश थी।
2. सरकार गहरी नींद में थी, उसने समस्या को नहीं समझा।
3. शहीद हुए जवानों ने इसकी कीमत चुकाई।

इससे पहले राहुल ने गुरुवार को भी सरकार पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि हमारे जवान बिना हथियारों के शहीद होने के लिए क्यों भेज दिए गए? इसके लिए कौन जिम्मेदार है? राहुल ने दो दिन पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी सीधे सवाल किए थे। रक्षा मंत्री ने कहा था कि गलवान वैली में हमारे सैनिकों के शहीद होने से दुखी हैं। राहुल ने उनसे पूछा कि आप चीन का नाम क्यों नहीं ले रहे। भारतीय सेना को बेइज्जत क्यों कर रहे हैं?
गौरतलब है कि लद्दाख की गलवान वैली में सोमवार को चीन के सैनिकों से झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। चीन के भी 40 सैनिक मारे जाने की खबर है, हालांकि उसने यह कबूल नहीं किया है। चीन के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ऑल पार्टी मीटिंग भी बुलाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here