स्मार्ट वैल्डिंग लैब से खुलेंगे रोजगार के नये मौके : त्रिवेंद्र

  • मुख्यमंत्री ने हरिद्वार के जगजीतपुर आईटीआई में स्थापित अंतरराष्ट्रीय स्तर के नवीनतम उपकरणों से सुसज्जित स्मार्ट वैल्डिंग लैब का किया ई-लोकार्पण

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज मंगलवार को हरिद्वार के जगजीतपुर आईटीआई में स्थापित अंतरराष्ट्रीय स्तर के नवीनतम उपकरणों से सुसज्जित स्मार्ट वैल्डिंग लैब का ई-लोकार्पण किया।
इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जगजीतपुर, आईटीआई के आधुनिकीकरण से राज्य में आईटीआई के आधुनिकीकरण की अच्छी शुरूआत हुई है। हमें क्वांटिटी के बजाय क्वालिटी एजुकेशन पर अधिक ध्यान देना होगा। उत्तराखण्ड में आईटीआई एवं पाॅलीटेक्निक में गुणात्मक सुधार की दिशा में विशेष प्रयास करने होंगे। जगजीतपुर आईटीआई में जो छात्र-छात्राएं प्रशिक्षण लेंगे। उन्हें रोजगार के अनेक अवसर मिलेंगे।

त्रिवेन्द्र ने कहा कि कौशल विकास एवं सेवायोजन विभाग द्वारा जिन आईटीआई के आधुनिकीरण की योजना बनाई गई, यह कार्य जल्द किया जाये। प्रशिक्षण के लिए आईटीआई में आधुनिक यंत्रों का इस्तेमाल हो। जिससे युवाओं को राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर कार्य करने का मौका मिल सके। उन्होंने कहा कि युवाओं के कौशल विकास के लिए सरकार, इंडस्ट्री एवं प्रशिक्षण संस्थान आपसी सामंजस्य से कार्य कर रहे हैं। इससे इंडस्ट्रियों में किस क्षेत्र में काम करने वालों की डिमांड अधिक है, उन क्षेत्रों में प्रशिक्षण संस्थानों को अधिक ध्यान देने की जरूरत है। कौशल विकास एवं सेवायोजन मंत्री डाॅ. हरक सिंह रावत ने कहा कि राज्य में 25 आईटीआई को हाईटैक किया जा रहा है। राज्य सरकार का प्रयास है कि युवाओं के हाथ में हुनर हो। प्रधानमंत्री के स्किल इंडिया और आत्मनिर्भर भारत की दिशा में प्रशिक्षण संस्थान महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आईटीआई एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें युवाओं का कौशल विकास अच्छे तरीके से हो तो इसमें रोजगार एवं स्वरोजगार की बहुत संभावनाएं हैं।
सचिव कौशल विकास एवं सेवायोजन डाॅ. रणजीत सिन्हा ने कहा कि श्रीनगर आईटीटाई को सेंटर आफ एक्सीलेंस के रूप में विकसित किया जायेगा। आईटीआई के आधुनिकीकरण के लिए अनेक प्रयास किये जा रहे हैं। इंडस्ट्री से निरन्तर समन्वय स्थापित किये जा रहे हैं, कि उद्योगों को किन-किन क्षेत्रों में मेन पावर की अधिक आवश्यकता है। इस वसर पर ई माध्यम से फ्रोनियस इंडिया प्रालि के डायरेक्टर वीवी कामथ, मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार रविन्द्र दत्त, निदेशक कौशल विकास आर. राजेश कुमार एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here